Home देश-दुनिया आतंकी जफर मसूद को सूरत पुलिस ने किया गिरफ्तार

आतंकी जफर मसूद को सूरत पुलिस ने किया गिरफ्तार

59
0
Listen to this article

सूरत। आतंकवादी संगठन अलकायदा से जुड़े जफर मसूद को आज सूरत पुलिस ने अरेस्ट किया। ट्रांसफर वारंट से धरपकड़ करने के बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया। अब पुलिस उससे सख्ती से पूछताछ करेगी। उल्लेखनीय है कि अलकायदा से सांठगांठ रखने वाले मसूद ने सूरत से एक पासपोर्ट बनवाया था। उसकी धरपकड़ इसी सिलसिले में हुई है। जफर अलकायदा का मुख्य आपरेटर था…
जफर मसूद उर्फ गुड्डू की अलकायदा की भारतीय उपमहाद्वीप का मुख्य आपरेटर था। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा दिसम्बर 2015 में जफर के साथ मोहम्मद आसिफ और अब्दुल रहमान को अरेस्ट किया था। ये दोनों ओडिशा के कटक में मदरसा चलाते थे। जफर ने उसके दो रिश्तेदारों सेरजिल और आसिफ को पाकिस्तान भेजने के लिए एक लाख से अधिक की फंडिंग की थी। इन दोनों ने पाकिस्तान जाकर वहां अलकायदा की ट्रेनिंग भी ली थी। सेरजिल और आसिफ दिल्ली के रहमान के साथ तेहरान और अफगानिस्तान होकर 2013 में पाकिस्तान पहुंचे थे।06_1479465790
चार में से एक पासपोर्ट में एक में सूरत का पता था
दिल्ली पुलिस ने दिसम्बर 2015 में उत्तर प्रदेश के संभल जिले के बिपासराई गांव के रहने वाले जफर मसूद उलहसन शेख को आतंक संगठनों के साथ सांठगांठ के आरोप में पकड़ा था। उसके घर से चार पासपोर्ट मिले थे। उसमें से एक पासपोर्ट बोगस दस्तावेज के आधार पर सूरत में बनवाया गया था। इससे सूरत क्राइम ब्रांच की टीम ने आज जफर मसूद की ट्रांसफर वारंट से धरपकड़ की थी।
पुलिस ने स्थानीय लोगों की धरपकड़ की थी04_1479465790
पुलिस ने इस मामले में सूरत एसओजी मसूद को पासपोर्ट के लिए मदद करने वाले रांदेर टाउन के रहमत खान जमादार स्ट्रीट के पास कौसर मंजिल में रहने वाले सैयद परवेज गुरुमियां तथा कुमार मंजिल में रहने वाले शेख याह्या मोहम्मद को अरेस्ट कर जांच शुरू की थी। रिश्ते में दोनों चाचा-भतीजा हैं। इनसे पूछताछ में यह सामने आया कि जफर मसूद 2000 से 2003 तक उनके मकान में किराए से रह रहा था। पड़ोसी होने के नाते पहचानने के कारण उन्होंने पासपोर्ट की प्रोसिजर में उनका रेफरेंस दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here