Home उत्तर प्रदेश जन-धन खाता में अगर दूसरे का पैसा जमा करने वाले अब सावधान...

जन-धन खाता में अगर दूसरे का पैसा जमा करने वाले अब सावधान -यह कहा मोदी ने

35
0
Listen to this article

आगरा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को आगरा में परिवर्तन रैली को संबोधित किया. इस दौरान पीएम मोदी ने कालेधन पर लगाम लगाने के लिए उठाए गए कदम पर सहयोग करने के लिए जनता की सराहना की. पीएम मोदी ने कहा कि नोटबंदी से गरीबों, ईमानदारों और मध्यम वर्ग को फायदा होगा.2016_11$largeimg20_Nov_2016_160452897
नोटबंदी पर पीएम मोदी के भाषण की खास बातें.
>>>> नोटबंदी से जाली नोट के पूरे कारोबार को बड़ा झटका लगा है. मैंने कोई निर्णय किसी को परेशान करने के लिए नहीं किया, देश की भावी पीढ़ी को खड़ा करने के लिए किया है. ये 50 दिन आप तकलीफ झेलेंगे. बेईमानों के खिलाफ लड़ाई जीतेंगे.
>>>> स्कूल में दाखिले के लिए भी कैश में पैसा देना पड़ता है, ये जो कदम उठाया है उससे गरीब, मध्यम वर्ग की लाचारी खत्म होने वाली है.
>>>>> आज मैं आपसे आग्रह करने आया हूं, ये जो बदमाशी करने वाले लोग हैं वो जनधन अकाउंट खोलने वालों को पास पहुंच कर उन्हें प्रलोभन दे रहे हैं. ऐसे पापियों को घुसने मत देना. कानून इतना सख्त है कि पैसा देने वाले मुकर जाएंगे और गरीब जिसके अकाउंट में पैसे जमा होंगे वो फंस जाएगा. किसी का भी रुपया चाहे वो 500 का हो या हजार का हो उससे जितना दूर रह सकते हो रहो. वो आपको फंसा कर भाग जाएगा. ये गरीबों, मध्यम वर्गों, किसानों को बचाने के लिए मेरी योजना है.
>>>> एक मध्यम वर्ग का व्यक्ति मकान खरीदने जाता है तो कैश की मांग होती है. उसके खून पसीने की कमाई को काले में मांगा जाता है. कुछ लोगों की सारी जिंदगी तबाह हो जाए ऐसा दंड दिया है
किसी का भी रुपया मत लीजिए,
मेहरबानी करके 500-1000 रुपए के नोट से दूर रहिए। मैं आग्रह करने आया हूं कि ये जो बदमाशी करने वाले लोग होते हैं वह बहुत चतुर होते हैं। जनधन खातों से ऐसे पापियों को घुसने मत देना। 50 दिन थोड़ी तकलीफ रहेगी, यह मैंने कहा है, थोड़ कष्ट झेलना पड़ेगा यह मैंने कहा था। मैंने यह निर्णय किसी को तकलीफ के लिए नहीं बल्कि भावी भविष्य को बेहतर करने के लिए किया है। कुछ लोगों का तो सब कुछ लुट गया है, आपको विधायक बनना है, इतनी नोटे लाओ, तब एमएलए बनोगे, नोटे भर-भरक रख ली थी, क्या हुआ उन नोटों का। यह खेल बंद होना चाहिए। क्या आतंकवाद को पलने देना चाहिए, क्या जवानों को मरने देना चाहिए, कब तक हम चुप रहे, 70 साल तक कोई नहीं बोला। 500-1000 के नोट बंद होने से जाली नोट के कारोबार को बड़ा झटका लगा है। जाली नोट छाप-छापकर हिंदुस्तान में घुसेड़ा जाता है, नशीली चीजों का कारोबार कैश से चलता है। गरीबों और मध्यवर्गीय लोगों को कम ब्याज दर पर पैसा देना पड़ेगा। बैंकों में जो पैसा आया है वह बैंक में बंद नहीं रहेगा, बैंकों को यह पैसा लोगों को देना पड़ेगा, छोटे व्यापार पर लोन भी देने पड़ेगा। मेरे इस कदम से मध्यमवर्गीय मानवीय को सुरक्षा मिलने वाली है। कैसे-कैसे लोग मेरे खिलाफ आवाज उठा रहे हैं, क्या देश नहीं जानता है कि चिटफंड के नाम पर कितने लोगों को आत्महत्या तक करनी पड़ी थी। नोटबंदी का कदम गरीबों और मध्यमवर्गीय लोगों के लिए उठाया गया है। अभी तक 5 लाख करोड़ रुपए लोगों ने बैंकों में जमा कराया है। जिस शहर को 5 करोड़ रुपए का बिजली का बिल इकट्ठा करने में मुश्किल होती थी वहां 15 करोड़ रुपए जमा हो गए। मैंने कहा था कि इस व्यवस्था पर मैं पूरी तरह से नजर रखुंगा और मैंने जनता के सुझाव को माना है, और जहां लचीलेपन की जरूरत थी हमने बदलाव किया। मैंने देश के सामने ही पहले ही दिन कहा था कि इस काम (नोटबंदी) के लिए आपके सहयोग की जरूरत होगी, आपको असुविधा होगी। लेकिन मैं हैरान हूं कि लोग तकलीफ उठाकर देश के लिए यह काम कर रहे हैं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं आपके सपने सच होंगे। हम निर्धारित समय में निर्धारित रूप से गरीबों के काम को पूरा करने की दिशा में आगे बढ़ रहा हूं। मैंने 1000 दिन में बिजली का काम पूरा करना है, 95 फीसदी बिजली का काम यूपी में पूरा हो चुका है। ग्रामीण इलाकों में लोगों को उनके घर पर गैस कनेक्शन दिया जाएगा। करोड़ो घर बनाने के लिए राजमिस्त्री की जरूरत होगी, लेकिन हमारे पास इसकी कमी है, हम बड़ी संख्या में युवाओं को राजमिस्त्री की ट्रेनिंग दे रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here