Home उत्तर प्रदेश 6 फरवरी तक सुब्रत राय की बढ़ी पैरोल, 600 करोड़ जमा कराने...

6 फरवरी तक सुब्रत राय की बढ़ी पैरोल, 600 करोड़ जमा कराने का आदेश

36
0
Listen to this article

लखनऊ, सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत रॉय की पैरोल अवधि छह फरवरी तक के लिए बढ़ा दी। हालांकि अदालत ने आगाह किया कि अगर सुब्रत रॉय ने छह फरवरी तक 600 करोड़ रुपये जमा नहीं कराए तो उन्हें वापस जेल जाना होगा।
चीफ जस्टिस तीरथ सिंह ठाकुर की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने सहारा प्रमुख की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल की दलीलें सुनने के बाद यह निर्देश दिया। पीठ ने पहले समूह से बाजार नियामक सेबी के पास दो माह में एक हजार करोड़ रुपये जमा कराने को कहा था। लेकिन बाद में इसे 600 करोड़ रुपये कर दिया। सहारा प्रमुख की पैरोल अवधि 28 नवंबर को समाप्त हो रही थी। उन्हें इसके लिए 200 करोड़ रुपये जमा कराने पड़े थे। सुब्रत रॉय अपनी मां के निधन के बाद पैरोल पर जेल से बाहर आए थे, उसके बाद न्यायालय उनकी अंतरिम जमानत लगातार बढ़ाता रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने सुब्रत रॉय सहारा की अंतरिम जमानत को 6 फरवरी तक के लिए बढ़ा दिया है। इसके साथ ही कोर्ट ने सहारा ग्रुप से 600 करोड़ रुपए और जमा कराने को कहा है। इससे पहले कोर्ट ने रॉय की पैरोल 28 नवंबर तक के लिए बढ़ाई थी। बता दें, सेबी-सहारा के बीच इन्‍वेस्‍टर्स के पैसे लौटाने को लेकर विवाद चल रहा है। इसकी सुनवाई सुप्रीम कोर्ट की तीन जजों की बेंच कर रही है। सहारा को फटकार भी लगा चुका है कोर्ट इससे पहले कोर्ट ने कहा था कि सहारा ग्रुप सेबी के पास बकाया रकम 12 हजार करोड़ रुपए कैसे जमा करवाएगा, इसका वह रोडमैप सबमिट करे। कोर्ट ने सहारा को प्रॉपर्टीज के बारे में जानकारी छिपाने पर भी लताड़ लगाई थी। सहारा ने सेबी के पास जो 60 प्रॉपर्टीज सबमिट की थी, उसमें से 47 प्रॉपर्टीज इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट की तरफ से अटैच्‍ड थीं। लेकिन इसकी जानकारी कोर्ट को नहीं दी गई थी।
कोर्ट ने उठाए थे कई सवाल
– सहारा ने 3 सितंबर को हुई सुनवाई में कहा था कि उसने इन्‍वेस्‍टर्स के 25 हजार करोड़ रुपए लौटा दिए हैं। इतनी बड़ी रकम कैश में देने पर सुप्रीम कोर्ट ने सवालिया निशान लगाया था। कोर्ट ने ग्रुप को पैसों के सोर्स के बारे में बताने को कहा था। कोर्ट ने कमेंट करते हुए कहा कि इतनी बड़ी रकम स्‍वर्ग से तो नहीं आती है। इसका सोर्स बताएं। कोर्ट ने कहा था कि बहुत कम समय में आपने इतनी बड़ी अमाउंट कैसे जमा कर दी। आपकी बात को पचा पाना मुश्किल है। इस पर सहारा ग्रुप ने कोर्ट से कहा था कि वह किसी भी जांच के लिए तैयार है।
6 मई से पैरोल पर बाहर हैं सुब्रत रॉयsubrata-roy1
सुप्रीम कोर्ट ने रॉय को 6 मई को पैरोल पर रिहा किया था। उन्‍हें ये पैरोल उनकी मां का निधन होने के बाद मानवीय आधार पर दी गई थी। वे तब से जेल से बाहर हैं। इस पैरोल को पहले 11 जुलाई तक बढ़ा दिया गया था। इसके बाद कोर्ट ने राय की पैरोल 3 अगस्‍त तक और फिर 28 नवंबर तक के लिए बढ़ा दी थी।
सेबी के वकील से जवाब मांगा
सिब्बल ने कहा कि समूह ने अदालत के पहले के निर्देश के अनुसार पहले रकम जमा कराई थी और भुगतान की नई योजना दाखिल की है। पीठ ने इसके बाद सेबी के वकील अरविंद दातार और न्याय मित्र वरिष्ठ अधिवक्ता शेखर देशपांडे से अपना जवाब दाखिल करने को कहा। अदालत ने दोनों से यह बताने को कहा कि क्या समूह पुनर्भुगतान योजना में बदलाव करने का लाभ पाने का हकदार है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here