Home देश-दुनिया पन्नीरसेल्वम : 2 बार अंतरिम मुख्यमंत्री से लेकर वास्तविक CM बनने तक

पन्नीरसेल्वम : 2 बार अंतरिम मुख्यमंत्री से लेकर वास्तविक CM बनने तक

32
0
Listen to this article

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे. जयललिता के निधन के बाद प्रदेश की राजनीति में बहुत बड़ी रिक्तता आ गई है। लेकिन यह देखना ज्यादा दिलचस्प होगा कि आने वाले दिनों में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक में किस तरह का राजनीतिक बदलाव आता है।
पेचीदा सवाल यह है कि क्या अन्नाद्रमुक का झुकाव भाजपा की तरफ बढ़ेगा, जैसा कि राज्य के राजनीतिक पंडितों का एक वर्ग कयास लगाने लगा है। प्रदेश की 234 सदस्यीय विधानसभा में अन्नाद्रमुक के 150 से अधिक विधायक हैं। लेकिन इससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण संसद में उसकी ताकत है जो केंद्र की किसी भी सत्तारूढ़ व्यवस्था को प्रभावित कर सकती है। लोकसभा में अन्नाद्रमुक के 37 सांसद हैं जबकि राज्यसभा में 13 सांसद हैं। अन्नाद्रमुक के ये 50 सांसद आने वाले दिनों मोदी सरकार के लिए बहुत उपयोगी संसाधन बन सकते हैं, खासकर जुलाई 2017 में जब राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति का चुनाव होगा। इसके अलावा ये सांसद संसद के दोनों सदनों में कुछ अहम विधेयकों को पारित कराने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं। लिहाजा मोदी की जरूरतें स्पष्ट हैं। लेकिन अन्नाद्रमुक की केंद्र से क्या अपेक्षाएं हैं और अपनी करिश्माई नेता के अवसान के बाद वह राज्य की जरूरतें कैसे पूरी करेगी?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here