Home बड़ी खबरें मेरी छवि को निश्‍च‍ित ही नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई :...

मेरी छवि को निश्‍च‍ित ही नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई : रतन टाटा

48
0
Listen to this article

मुंबई: टाटा संस के निष्कासित चेयरमैन साइरस मिस्त्री के साथ अपनी खींचतान में अपनी चुप्पी तोड़ते हुए रतन टाटा ने शुक्रवार को कहा कि बीते दो महीने में उनकी व्यक्तिगत छवि को चोट पहुंचाने की निश्चित कोशिश की गई है लेकिन अंतत: सच्‍चाई सामने आएगी भले ही प्रक्रिया कितनी भी पीड़ादायी हो. उल्लेखनीय है कि 24 अक्टूबर को मिस्त्री को टाटा संस के चेयरमैन पद से अचानक हटा दिया गया. रतन टाटा को अंतरिम चेयरमन बनाया. टाटा ने यहां टाटा केमिकल्स के शेयरधारकों की बैठक में अपने विचार रखने के लिए हस्तक्षेप किया.
72 वर्षीय नुस्ली वाडिया, वाडिया ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन हैं। टाटा ग्रुप की तीन कंपनियों टाटा स्टील लिमिटेड, टाटा मोटर्स लिमिटेड, टाटा केमिकल्स लिमिटेड के निदेशक मंडल में स्वतंत्र निदेशक थे। बता दें कि 22 दिसंबर को ही टाटा मोटर्स के शेयरहोल्डर्स ने नुस्ली वाडिया को स्वतंत्र निदेशक के पद से हटाने के लिए वोट किया था। ये वोटिंग एक्स्ट्रा ओर्डिनरी जनरल मीटिंग (ईजीएम) के दौरान हुई।Nusli-Wadia-620x400
पत्र में वाडिया ने टाटा पर आरोप लगाया कि मीटिंग में गिने-चुने लोगों को बुलाते हैं और उन्हें ही बोलने देते हैं जिन्हें वे बोलना देना चाहते हैं। वाडिया ने यह भी लिखा था कि भारत के कॉरपोरेट इतिहास में उन्होंने पहली बार ऐसा देखा है। नुसली वाडिया ब्रिटिश मूल के पारसी बिजनेसमैन हैं। वाडिया ज्यादातर वक्त मुंबई में रहते हैं लेकिन उनके पास ब्रिटिश पासपोर्ट है। वह मोहम्मद अली जिन्ना के पोते हैं। जिन्हें पाकिस्तान का जन्मदाता कहा जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here