Home Uncategorized जमीं के नीचे दबे लाश के निकट वीरपुर DSP अन्य अधिकारीयों के...

जमीं के नीचे दबे लाश के निकट वीरपुर DSP अन्य अधिकारीयों के साथ

46
0
Listen to this article

वीरपुर,सुपौल जिला परिषद् अध्यक्षा का भाई एवं सहरसा का शार्प शूटर सोनू सिंह अपने एक साथी के साथ रहस्यमय ढंग से की गई हत्या का हुआ शिकार .वीरपुर पुलिस ने शनिवार को इन दोनों लाशों को 22 आर डी से 3 कि.मि. दक्षिण एवं 36 आर डी से 3 कि मि उत्तर स्थित नहर के बांध पर उग आये घनी झाड़ियों से बरामद किया. वीरपुर थानाध्यक्ष सब-इंस्पेक्टर सुरेश कुमार राम ने बताया कि लाश की स्थिति से यह प्रतीत हो रहा है कि हत्या 3 से 4 दिन पूर्व कर हत्या कर साक्ष्य को छिपाने के उद्देश्य से निर्जन स्थल पर लाश को ठिकाना लगाने का प्रयास किया गया है. श्री राम ने आगे बताया कि 34 वर्षीय सोनू सिंह उर्फ़ बाबूसाहब के शरीर पर फ़िलहाल चोट के कोई निशान नहीं दिखे , वहीँ 26-26 वर्षीय हिमांशु मिश्र उर्फ़ बिट्टू के सिर पर चोट के गहरे निशान नजर आ रहे थे.हिमांशु मिश्रा सहरसा के गंगजला का निवासी बताया गया. सब-इंस्पेक्टर सुरेश राम ने आगे बताया कि सोनू सिंह पर सहरसा, मधेपुरा एवं सुपौल जिले में दो से ढाई दर्जन मामले दर्ज थे जबकि हिमांशु मिश्रा पर भी कोशी प्रमण्डल के कई थानों में मामले दर्ज हैं. सोनू सिंह के एक पैर में स्टील का रड लगा हुआ था जिसके कारण उसका साथी हिमांशु मिश्रा ही बाईक चलाया करता था.
सब इंस्पेक्टर सुरेश कु.राम की माने तो शुक्रवार से ही सोनू के परिजनों की शिकायत पर पुलिस लाश की खोज में 22 आर डी इलाके की खाक छानने में लगी थी.
SOUN SINGH24-12-2016
O. P. Raju , फाइल फ़ोटो
कोसी कमिशनरी के दुर्दान्त शूटर की रहस्यमय हत्या
** 2016 के पंचायत चुनाव के समय सुपौल जिले की करजाइन थाना पुलिस ने आर्म्स के साथ सोनू सिंह एवं हिमांशु मिश्रा को हथियार एवं एक तीसरे साथी के साथ 12 मई 2016 को गिरफ्तार किया था।
** गिरफ्तारी के बाद से सोनू और उसके साथी वीरपुर स्थित उप-कारा में बंद थे
** दिसम्बर माह के दूसरे सप्ताह में ही सोनू जेल से बाहर निकला था।
** लाश की बरामदगी के समय सोनू के हाथ एवं पैर रस्सी से बंधे मिले।
** वीरपुर SHO के अनुसार हत्या की घटना को कहीं और अंजाम दिया गया है। कटैया 22 आर डी क्षेत्र में लाश को ठिकाना लगाया गया है।
** SHO वीरपुर- हत्या की जाँच के क्रम में कुछ बड़े-बड़े सफेदपोश के चेहरे उजागर होने की संभावना है।
** वीरपुर थानाध्यक्ष ने बताया कि सोनू सिंह सुपौल,सहरसा एवं मधेपुरा क्षेत्र में आतंक का पर्याय बना हुआ था। हत्या की सुपारी लेनेवाला वह अकेला अपराधी था।

लूट2 वीरपुर , फिरौती हेतु अपहरण1 सहर्षा ह्त्या2 सहर्षा, रागदारी 1सहर्षा ,आर्म्स एक्ट 2 एक सहर्षा 1 सुपौल

(1) सहर्षा थाना काण्ड संख्यां 283/2009 धारा 302/34 भादवि एवं 27 आर्म्स एक्ट
(2) सहर्षा थाना कांड संख्या 195/2010 धारा 302,307,324,120(बी) भादवि एवं 27 आर्म्स एक्ट
(3) सहर्षा थाना काण्ड संख्यां 504/2010 धारा 386,387,34 भादवि फिरौती हेतु अपहरण
(4) सहर्षा थाना कॉन्ड संख्यां 519/2010 धारा 25(1ba)/26/35 आर्म्स एक्ट
(5) सहर्षा थाना काण्ड संख्यां 69/2011 धारा 363/365 भादवि एवं परिवर्तित धरा 364(A)/ 120(b) भादवि फिरौती हेतु अपहरण
(6) वीरपुर काण्ड संख्यां – 26/2001 दिनांक 27.02.2001 धारा 394 भादवि (लूट काण्ड)
(7) वीरपुर काण्ड संख्यां – 95/2001, दिनांक 10.11.2001 धारा 392 भादवि ( लूट काण्ड)
(8) करजाइन थाना काण्ड संख्यां 42/2016 दिनाक 12.05.2016 धारा 25(1बी)26,35 आर्म्स एक्ट
08.11.2016 से सोनू सिंह बेल पर था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here