Home देश-दुनिया 1 जनवरी तक 562 करोड़ जब्त, 4663 करोड़ की अघोषित आय का...

1 जनवरी तक 562 करोड़ जब्त, 4663 करोड़ की अघोषित आय का खुलासा

33
0
Listen to this article

नोटबंदी के बाद से एक जनवरी, 2017 तक आयकर विभाग ने देशभर से 562 करोड़ रुपये जब्त किए जबकि 4,663 करोड़ रुपये की अघोषित आय का खुलासा हुआ। आयकर विभाग और जांच एजेंसियों की सतर्कता का ही नतीजा है कि इस दौरान 1100 मामलों में कार्रवाई हुई। इस दौरान 556 सर्वे, 253 छापेमारी और 289 मामले नकदी जब्त करने के सामने आए। आयकर विभाग के सूत्रों के अनुसार साल के पहले दिन तक आयकर विभाग ने वेरिफिकेशन के लिए 5062 लोगों को नोटिस जारी किया। इनमें से 500 मामले सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के हवाले किए गए।
चेन्नई के ललिता ज्वैलर ने 8 नवंबर को एक ही दिन में 200 किलो सोना बेच दिया था। इसके एक दिन पहले उसने केवल 40 ग्राम सोना ही बेचा था। एक्साइज अधिकारियों के अनुसार जयपुर के लावत ज्वैलर का स्टॉक 7 नवंबर को 100 ग्राम था, जो कि 8 तारीख को 30 किलो हो गया था। देशभर में सर्राफा कारोबारियों से पूछताछ के बाद 400 ज्वैलर्स की ओर से 20 करोड़ रुपए की टैक्स चोरी की बात सामने आई है। माना जा रहा है कि जांच पूरी होने तक यह आकड़ा 100 करोड़ तक भी पहुंच सकता है।
अधिकारी दावा करते हैं कि 8 नवंबर को ही लगभग दो टन सोना बेचा गया था। इसमें बड़ी मात्रा में काले धन को सफेद कराने का काम किया गया है। दिल्ली के एक बड़े ज्वैलर ने उसी रात 700 लोगों को 45 किलो सोना बेचा था, जबकि एक दिन पहले उसने केवल 820 ग्राम सोना ही बेचा था।02_01_2017-goldfinmin
नोटबंदी के बाद क्या-क्या हुआ? इसके कई दावें तथा प्रतिदावें हैं. इसके बाद भी बहुत कुछ दावें के साथ कहा जा सकता है क्योंकि इसी पुष्टि सरकारी एजेंसियां करती हैं. इसी तरह की एक खबर है कि 8 नवंबर को नोटबंदी के बाद केवल 48 घंटे में ही 4 टन सोना बिक गया था जिसकी कीमत 1,250 करोड़ रुपये की है. डायरेक्टरेट ऑफ सेंट्रल एक्साइज इंटेलिजेंस (DGCEI) के सर्वे में यह बात सामने आई है. अधिकारियों का दावा है कि 8 नवंबर को ही लगभग 2 टन सोना बेचा गया और इसमें बड़ी मात्रा में काले धन को सफेद कराने का काम किया गया.

सेंट्रल एक्साइज इंटेलिजेंस के आंकड़ों के मुताबिक नोटबंदी के बाद के 48 घंटों के भीतर देशभर में करीब 4 टन सोना बेचा गया. अंग्रेजी अखबार ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ की रिपोर्ट के मुताबिक, एजेंसी के अधिकारियों का दावा है कि करीब 2 टन सोना 8 नवंबर को ही बेचा गया.

* सरकारी एजेंसी के मुताबिक, दिल्ली के एक बड़े ज्वैलर ने 8 नवंबर की रात 700 से अधिक लोगों को 45 किलोग्राम सोना बेचा.

* इसी ज्वैलर की ठीक एक दिन पहले की ब्रिक्री महज 820 ग्राम सोने की थी.

* इसी दिन चेन्नई के ललिता ज्वैलर्स ने 200 किलो सोना बेचा जबकि इससे पहले दिन उसने केवल 40 ग्राम सोना ही बेचा था.

* जयपुर के लावत ज्वैलर का स्टॉक 7 नवंबर को 100 ग्राम था, जो कि 8 तारीख को 30 किलो हो गया.

* देशभर में सर्राफा कारोबारियों से पूछताछ के बाद 400 ज्वैलर्स द्वारा 20 करोड़ के टैक्स चोरी की बात सामने आई है.

* जांच पूरी होने तक यह आकड़ा 100 करोड़ तक भी पहुंच सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here