Home उत्तर प्रदेश यूपी चुनाव 2017: तीसरे चरण में 69 सीटों पर मतदान शुरू, कई...

यूपी चुनाव 2017: तीसरे चरण में 69 सीटों पर मतदान शुरू, कई दिग्‍गजों के भाग्‍य का होगा फैसला

25
0
Listen to this article

लखनऊ : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के तीसरे चरण का मतदान रविवार को होने जा रहा है, जिसकी तैयारियां पूरी कर ली गयी हैं। इस चरण में 69 सीटों के लिए मतदान होगा। इस चरण में केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के लोकसभा क्षेत्र लखनऊ और सपा का गढ़ समझे जाने वाले कन्नौज, मैनपुरी ओर इटावा के तहत आने वाली विधानसभा सीटें शामिल हैं। फरूखाबाद, हरदोई, औरैया, कानपुर देहात, कानपुर, उन्नाव, बाराबंकी और सीतापुर सहित 12 जिलों के विधानसभा क्षेत्र इस चरण में हैं। इटावा सपा संस्थापक मुलायम सिंह यादव का गढ है। मैनपुरी से तेज प्रताप यादव सपा सांसद हैं। कन्नौज से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यादव सांसद हैं।evm-19-02-2017-1487442983_storyimage
इस चरण में मतदान बूथों की संख्या 25603 होगी। जिन प्रमुख लोगों की किस्मत दांव पर लगी है, उनमें सपा नेता नरेश अग्रवाल के पुत्र नितिन अग्रवाल, बसपा से भाजपा में शामिल हुए ब्रजेश पाठक लखनऊ मध्य से जबकि कांग्रेस से भाजपा में आयी रीता बहुगुणा जोशी और मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव लखनऊ कैण्ट से शामिल हैं। इसी चरण में सपा नेता शिवपाल सिंह यादव के भाग्य का भी फैसला हो जाएगा, जो जसवंत नगर से प्रत्याशी हैं। कांग्रेस नेता पी एल पुनिया के बेटे तनुज पुनिया बाराबंकी की जैदपुर सीट से उम्मीदवार हैं।
तीसरे चरण में 12 जिले की 69 सीटों पर मतदान हो रहा है। जिसके लिए कुल 826 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें से 106 महिलाएं हैं। इस दंगल में चार ऐसी सीटें हैं, जहां यादव परिवार की प्रतिष्ठा दांव पर मानी जा रही है। जसवंतनगर, लखनऊ कैंट, सरोजिनीनगर और रामनगर में यादव परिवार के सदस्य चुनाव लड़ रहे हैं। सपा में मची रार के बाद कार्यकर्ताओं में सिर-फुटौव्वल की स्थिति है।
समाजवादी पार्टी चलाने वाले परिवार में पार्टी की विरासत संभालने की दावेदारी में तलवारें खिंचने के बाद फिलहाल शीतयुद्ध के हालात हैं। मौजूदा पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव, पूर्व प्रमुख मुलायम सिंह यादव और पूर्व महासचिव शिवपाल यादव तीनों के लिए फर्रुखाबाद की चार, हरदोई की आठ, कन्नौज की तीन, मैनपुरी की चार इटावा की तीन, औरैया की तीन, कानपुर देहात की चार, कानपुर नगर की 10, उन्नाव की छह, लखनऊ की नौ, बाराबंकी की छह और सीतापुर की नौ सीटों के नतीजे साबित करेंगे कि मतदाताओं ने परिवार में किसका साथ दिया है।
जसवंतनगर से शिवपाल यादव मैदान में हैं। उनके लिए यहां कड़ी परीक्षा मानी जा रही है। उन्हें चुनाव प्रचार के दौरान अखिलेश समर्थकों की नाराजगी झेलनी पड़ी। मुलायम सिंह यादव ने जसवंतनगर और लखनऊ कैंट सीट पर प्रचार किया है। जसवंतनगर से मुलायम ने अखिलेश को जिद्दी बताते हुए भाई को जिताने की अपील की थी। यहां से भाजपा के मनीष यादव पतरे और बसपा से दुर्गेश शाक्य उम्मीदवार हैं। पहली बार शिवपाल यादव दरवाजे-दरवाजे घूमे हैं और अपना मोबाइल नंबर लोगों में बांटा है।
कई हैं वीआईपी उम्मीदवार
तीसरे फेज में शिवपाल सिंह यादव, मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव और रीता बहुगुणा जोशी, अखिलेश के चचेरे भाई अनुराग यादव, प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अरविन्द सिंह गोप, राज्यमंत्री फरीद महफूज किदवई, राज्यमंत्री राजीव कुमार सिंह, राज्यमंत्री नितिन अग्रवाल, बसपा छोड़कर भाजपा में गए बृजेश पाठक और कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य पीएल पुनिया के बेटे तनुज पुनिया के राजनीतिक भाग्य का फैसला होगा।
141587-voting-700

मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव लखनऊ कैंट से उम्मीदवार हैं। सपा को यहां से अब तक जीत नहीं मिली है। इस सीट पर यादव परिवार ने अपनी एका दिखाई। अखिलेश की पत्नी डिंपल ने अपनी देवरानी के समर्थन में वोट मांगे। मुलायम ने 16 फरवरी को यहां जनसभा की थी। यहां से भाजपा की उम्मीदवार रीता बहुगुणा जोशी से उनकी सीधी टक्कर है। जोशी ने यहां पिछली बार बतौर कांग्रेसी चुनाव जीता था। बसपा ने ब्राह्मण उम्मीदवार योगेश दीक्षित को उतारा है। इस सीट पर अपर्णा के पति प्रतीक की पांच करोड़ की लोम्बरगिनी कार को भाजपा ने मुद्दा बनाया है।
सरोजिनीनगर सीट से मुलायम सिंह के सांसद भतीजे धर्मेंद्र यादव के भाई अनुराग यादव सपा के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं। सपा को यहां अपनों की बगावत के साथ ही भाजपा की स्वाति सिंह से कड़ी चुनौती मिल रही है। मायावती के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने वाले दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह उत्तर प्रदेश भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष हैं। अनुराग यादव के लिए पूर्व मंत्री शारदा प्रताप शुक्ल भी मुश्किल खड़ी कर रहे हैं जिनका टिकट इस बार काट दिया गया। बागी शारदा प्रताप अब राष्ट्रीय लोक दल से मैदान में हैं।
rich-candidates-up-election_18_02_2017
रामनगर से अरविंद सिंह गोप के लिए अखिलेश यादव ने परिवार से टकराव मोल ले लिया। इस सीट से ही नाम तय करने को लेकर दिसंबर में सपा परिवार के विवादों की शुरुआत हुई। छात्र राजनीति से आए ग्राम्य विकास मंत्री अरविंद सिंह गोप लखनऊ विश्वविद्यालय छात्रसंघ के अध्यक्ष भी रह चुके हैं। इस सीट से गोप को बेनी प्रसाद वर्मा की नाराजगी झेलनी पड़ रही है। बसपा ने उनके खिलाफ हफीज भारती और भाजपा ने शरद अवस्थी को उतारा है। राजनीतिक समीकरणों के मद्देनजर प्रशासन ने अपनी तैयारियां की हैं। मतदान सुबह सात बजे शुरू हो जाएगा और शाम को पांच बजे तक चलेगा। कुल 16671 मतदान केंद्र और 25607 बूथ बनाए गए हैं। 3123 डिजिटल और 1411 वीडियो कैमरे लगाए गए हैं। 4609 माइक्रो आॅब्जर्वर, 837 केंद्रीय बल, 9119 पुलिस बल तैनात रहेंगे। 3357 उप निरीक्षक और 58025 होमगार्ड तैनात होंगे। 1707 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 200 जोनल मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर होंगे। कुल 1,18,883 कर्मचारियों को चुनावी ड्यूटी पर लगाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here