Home जम्मू-काश्मीर कश्‍मीर के नौजवानों के सामने दो रास्‍ते हैं, एक है टूरिज्‍म और...

कश्‍मीर के नौजवानों के सामने दो रास्‍ते हैं, एक है टूरिज्‍म और दूसरा टेररिज्‍म

37
0
Listen to this article

उधमपुर: कश्मीर के गुमराह युवकों को संदेश देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि ‘40 साल के रक्तपात’ से किसी का फायदा नहीं हुआ और युवाओं को राज्य के विकास एवं भलाई के लिए आतंकवाद के मुकाबले पर्यटन को तवज्जो देना चाहिए. प्रधानमंत्री मोदी जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर चेनानी और नाशिरी के बीच देश की सबसे लंबी सड़क सुरंग का उद्घाटन करने के बाद उधमपुर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे हैं. जनसभा को संबोधित करने से पहले पीएम ने खुली जीप में जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के साथ सुरंग का का जायजा लिया.

प्रधानमंत्री ने यहां राज्यपाल एन एन वोहरा और मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की उपस्थिति में नौ किलोमीटर लंबी चेनानी-नाशरी सुरंग को राष्ट्र को समर्पित किया जिसका निर्माण 2500 करोड़ रुपये की लागत से हुआ है.

जम्मू एवं कश्मीर की चेनानी-नाशरी सुरंग को भारत की सबसे लंबी सुरंग के साथ-साथ सर्वाधिक सुरक्षित सुरंग बताया गया है. एक शीर्ष अधिकारी ने यह जानकारी देते हुए कहा कि 10.89 किलोमीटर लंबी इस सुरंग में मुसाफिरों को आग लगने की घटनाओं और वाहनों को टकराने से बचाने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं. चेनानी-नाशरी सुरंग को ऑस्ट्रिया की नई सुरंग प्रौद्योगिकी से बनाया गया है. इसमें सुरक्षा के कई प्रावधान हैं. सभी का संचालन एक सॉफ्टवेयर से होता है. एक ही सॉफ्टवेयर एंट्रेंस डिटेक्शन कंट्रोल सिस्टम, इलेक्ट्रिकल फायर सिगनलिंग सिस्टम, वीडियो सर्विलांस सिस्टम और इवैकुएशन ब्रॉडकॉस्ट सिस्टम का संचालन करेगा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here