Home बड़ी खबरें पार्टी से अलग किए गए शशिकला और दिनाकरण तमिलनाडु में राजनीतिक उठापटक

पार्टी से अलग किए गए शशिकला और दिनाकरण तमिलनाडु में राजनीतिक उठापटक

48
0
Listen to this article

चेन्‍नई: तमिलनाडु के वित्त मंत्री डी जयकुमार ने मंगलवार को राज्य के मुख्यमंत्री ईके पलानीसामी से मुलाक़ात के बाद दो अहम बातें कहीं. पहली की AIADMK के तक़रीबन सभी विधायक चाहते हैं कि किसी भी परिवार का पार्टी या सरकार पर वर्चस्व न हो और साथ ही एक समिति का गठन किया जा रहा है जो ये तय करेगी कि AIADMK के अगले महासचिव के साथ-साथ दूसरे ऑफिस धारक कौन होंगे.
बेंगलुरु जेल में बंद शशिकला को पार्टी के महासचिव पद से हटाया जाएगा और इसके साथ-साथ उनके भतीजे दिनाकरन को भी AIADMK के उप महासचिव पद से हटना पड़ेगा.  राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और AIADMK के बागी ओ पन्‍नीरसेल्‍वम और उनके समर्थकों की पार्टी में वापसी का दरवाजा खुला गया है, क्योंकि पन्‍नीरसेल्‍वम शुरू से कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री के पद की उन्हें चाह नहीं, बस वो शशिकला परिवार को सत्ता और पार्टी से दूर रखना चाहते हैं. इससे पूर्व सोमवार सुबह दिल्ली पुलिस ने शशिकला के भतीजे और पार्टी के उप महासचिव दिनाकरन को पार्टी सिंबल के लिए एक शख्स को रिश्वत देने का आरोपी बनाया और एक शख्स को गिरफ्तार भी किया था. इसके बाद तमिलनाडु में सियासत तेज़ हो गई. दिनाकरन के खिलाफ मुकदमा और शशिकला का जेल में होना, दोनों ही पार्टी और सरकार के लिए एक बोझ से बन गए थे, क्योंकि चाहे वो मुख्यमंत्री हों या फिर दूसरे मंत्री और बड़े अधिकारी… उन्हें बड़े फैसले से पहले न सिर्फ दिनाकरन और शशिकला के पति एम नटराजन से सलाह लेनी पड़ती थी, बल्कि कहते हैं कि बेंगलुरु भी आना पड़ता था.. इससे भी मंत्रियों में खासा रोष था.

शशिकला आय से अधिक संपत्ति मामले में दोषी पाए जाने के बाद जेल में हैं। वहीं, पार्टी दोनों खेमों के बीच विलय की कोशिश कर रही है लेकिन पन्नीरसेल्वम ने विलय के लिए शर्त रखी थी कि जब तक शशिकला और उनके परिवार को पार्टी से दूर नहीं रखा जाता वह विलय नहीं करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here