Home दिल्ली आडवाणी, जोशी, उमा पर 16 साल बाद फिर से केस साजिश...

आडवाणी, जोशी, उमा पर 16 साल बाद फिर से केस साजिश का

42
0
Listen to this article

नई दिल्‍ली: वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी ने बुधवार शाम को मुलाकात की. दोनों वरिष्‍ठ नेताओं की यह मुलाकात सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के कुछ घंटों बाद हुई, जिसमें उसने कहा है कि 1992 में अयोध्या में बाबरी मस्जिद मस्जिद के विध्वंस में कथित भूमिका के लिए उन पर आपराधिक साजिश के तहत मुकदमा चलाया जाएगा. उनके साथ, केंद्रीय मंत्री उमा भारती और विनय कटियार जैसे पार्टी के अन्‍य वरिष्ठ नेताओं को भी अब गंभीर आरोपों का सामना करना होगा.

आज बीजेपी की कोर ग्रुप की बैठक हुई. प्रधानमंत्री मोदी के घर पर हुई इस बैठक के बाद उमा भारती ने अयोध्या न जाने का फैसला लिया.

बाबरी मस्जिद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने रोजाना सुनवाई के आदेश दिए हैं. इस मामले पर पहले उमा भारती ने कहा था कि ”वहां किसी तरह की आपराधिक साजिश नहीं थी, जो था खुल्लम खुल्ला था. अयोध्या, गंगा और तिरंगे पर कोई खेद नहीं है. हां मैं 6 दिसंबर को मौजूद थी, इसमें साजिश की कोई बात नहीं. अयोध्या आंदोलन में मेरी भागीदारी थी, मुझे कोई खेद नहीं.मैं इसके लिए कोई भी सजा भुगतने को तैयार हूं. मुझे इस आंदोलन में भागीदारी का गर्व रहा है.”

दोनों पक्षकारों ने खाई मिठाई
वहीं अयोध्या बाबरी मस्जिद मामले के पैरोकार हाजी महबूब ने कहा कि वो कोर्ट के बाहर समझौते को तैयार है. बातचीत से रास्ता निकलना चाहिए. इसके लिए वो उलेमाओं से बात करेंगे.  हाजी  महबूब ने कहा कि मसले को सुलझा लिया जाएगा और अयोध्या में मंदिर भी बनेगा और मस्जिद भी बनेगी. ‘आज तक’ पर मौजूद दोनों पक्षकारों ने मुंह भी मीठा किया और कहा कि हम मसला सुलझा लेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here