Home देश-दुनिया राजनाथ ने नक्‍सली हमले को बताया चुनौती, कहा- किसी को नहीं बख्‍शेंगे,

राजनाथ ने नक्‍सली हमले को बताया चुनौती, कहा- किसी को नहीं बख्‍शेंगे,

43
0
Listen to this article

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों से मुठभेड़ में सीआरपीएफ के 25 जवान शहीद हो गए हैं. इसके अलावा 7 जवान गंभीर रूप से जख्मी हुए हैं. घटना सोमवार दोपहर दो बजे की है. नक्सलियों ने सुकमा के चिंतागुफा में हमले को अंजाम दिया. सभी जवान 74 सीआरपीएफ बटालियन के थे. नक्सली, जवानों के हथियार भी लूटकर ले गए.  इस घटना के बाद पूरे इलाके को खाली करवा लिया गया.

नक्‍सली हमले के बाद स्थिति का जायजा लेने आज केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह सुकमा जाएंगे। कल हुए नक्‍सली हमले में करीब 25 जवानों शहीद हो गए थे।  केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज छत्तीसगढ़ जाकर सोमवार को हुए नक्‍सली हमले की जानकारी लेंगे। इस नक्‍सली हमले में 25 जवान शहीद हो गए थे। इस मौके पर उनके साथ गृह राज्यमंत्री हंसराज अहीर और सीआरपीएफ के वरिष्‍ठ अधिकारी भी होंगे। हमले के बाद अपनी प्रतिक्रिया देते हुए राजनाथ ने कहा कि सरकार इसको चुनौती कीतरह ले रही है और इसके दोषियों को बख्‍शा नहीं जाएगा। बताया जा रहा है कि सीआरपीएफ जवान रोड ओपनिंग के लिए गए थे. खाना खाने के दौरान नक्सलियों ने इन पर अचानक हमला कर दिया. जवानों को संभलने का मौका ही नहीं मिला. यही वजह रही कि इतनी बड़ी तादाद में जवान शहीद हो गए. पहले बताया जा रहा था कि 11 जवान शहीद हुए हैं. लेकिन कुछ घंटे बाद खबर आई कि हमले में 25 जवान शहीद हुए हैं.हमले में घायल एक जवान शेर मोहम्मद ने कहा कि करीब 300 नक्सलियों ने हमला किया, हम 150 जवान थे. हमने लगातार फायरिंग जारी रखी. मैंने 3-4 नक्सलियों के सीने पर गोली मारी. वहीं एंटी नक्सल ऑपरेशन के DIG आनंद छाबड़ा ने कहा कि 23 जवानों के शव बरामद हो चुके हैं.

राजनाथ ने हमले को बताया सरकार के लिए चुनौती
गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि सुकमा में सीआरपीएफ के जवानों पर किए गए नक्सली हमले को सरकार एक चुनौती की तरह देखती है. उन्होंने कहा कि सुकमा में नक्सली हमले में सीआरपीएफ के जवानों की मौत पर बहुत दुख है. राजनाथ ने कहा, ‘यह बेहद दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण घटना है, इस घटना को लेकर मैं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह से लगातार संपर्क में हूं. सूत्रों के मुताबिक हमले के बाद गृह मंत्रालय में उच्च स्तरीय बैठक हुई. मंत्रालय के आला अधिकारियों की इस बैठक में नक्सली हमले के बाद राज्य में सुरक्षा व्यवस्था की स्थिति पर विचार विमर्श किया गया.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here