Home उत्तर प्रदेश तहसील तिलहर में तहसील दिवस में 206 शिकायतें प्राप्त17 शिकायतों का निस्तारण

तहसील तिलहर में तहसील दिवस में 206 शिकायतें प्राप्त17 शिकायतों का निस्तारण

39
0
Listen to this article

शाहजहाँपुर। जिलाधिकारी नरेन्द्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में तहसील तिलहर में तहसील दिवस का आयोजन हुआ। जिसमें विभिन्न विभागो की 206 शिकायतें प्राप्त हुई और उनमे 17 शिकायतों का मौके पर निस्तारण किया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि जिस तरह तहसील दिवसो में शिकायतें आ रही है इससे प्रतीत होता है कि सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों द्वारा धरातल पर गुणवत्तापूर्ण कार्य नही किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सबसे अधिक शिकायतें राजस्व विभाग की भूमि सम्बन्धी प्राप्त हो रही है। इसके लिये तहसीलदार की यह जिम्मेदारी है कि वह भूमि सम्बन्धी सभी मामलो को चिन्हिंत करें और जो विवाद भूमि के हो उसे पुलिस के साथ जाकर मौके पर निस्तारित करायें। यदि कोई दंबग व्यक्ति किसी गरीब की भूमि, ग्राम समाज की भूमि, स्कूल या अन्य ग्रामीण संस्थाओं की भूमि पर अवैध कब्जा किये हो तो उसे चिन्हिंत करते हुये भू माफिया की श्रेणी लाये और उसके विरूद्ध कड़ी वैधानिक कार्यवाही करायें। उन्होने कहा कि भू माफिया बच के नही जा पायेगें। जिलाधिकारी ने बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग को निर्देश दिये कि वह जिले के समस्त अतिकुपोषित बच्चों को एक माह के अन्दर सामान्य श्रेणी में लाये। इसके लिये जो भी आवश्यक सहयोग होगा वह दिया जायेगा। उक्त तहसील दिवस में विधायक तिलहर श्री रोशन लाल वर्मा ने प्रोटीन एक्स के 100 डिब्बे तथा विधायक कटरा श्री वीर विक्रम ंिसह (पिं्रस) ने भी प्रोटीन एक्स के 100 डिब्बे अतिकुपोषित बच्चों में वितरित करने के लिये दिये। जिलाधिकारी ने उक्त दोनो मा0 विधायकगणो को धन्यबाद देते हुये कहा कि जिले से कुपोषण सभी के सहयोग से ही दूर होगा। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी गांव गोद लिये अधिकारी अपने-अपने गांवो के बच्चों का कुपोषण शतप्रतिशत दूर करें।

तहसील दिवस में प्राप्त शिकायतों का मौके पर निस्तारण कराने के लिये जिलाधिकारी ने कई अधिकारियों को मौके पर भेजकर जांच कराई। कटरा क्षेत्र उखरी गांव निवासी आकाश दीक्षित ने शिकायत की। कि उनके गांव के महेश आदि ने रास्ता बन्द कर दिया है। उन्हें दीवार नही उठाने दे रहे है। इसपर जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष कटरा प्रवेश सिंह तथा नायाब तहसीलदार सौरभ यादव को मौके पर जांचकर आख्या देने के निर्देश दिये। उक्त दोनो अधिकारी मौके पर गये तो गांव वालो ने बताया कि पूर्व में एक मीटर का रास्ता था। जिसे आकाश दीक्षित द्वारा बन्द कराना चाहते है। शिकायतकर्ता द्वारा प्रतिवादी के विरूद्ध मुकदमा भी दायर किया गया है। जो सिविल कोर्ट में चल रहा है। मौके पर उक्त दोनो अधिकारियों ने गांव वालो तथा दोनो पक्षो के सुलह करने पर एक मीटर रास्ता छुड़वाकर दीवार की नींव भरवा दी गई। शिकायतकर्ता द्वारा गलत ढ़ग से शिकायत करने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त की। उसी तरह रामपुर नवदिया के छोटेलाल ने शिकायत की कि उसकी पत्नी विकंलाग है और पात्र है। किन्तु उसे ग्राम प्रधान द्वारा पैसे की मांग करने पर न दे पाने पर ग्रामीण आवास नही दिया गया। इसपर जिलाधिकारी ने खण्ड विकास अधिकारी तिलहर एवं परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 को मौके पर भेजा। उक्त दोनो अधिकारियों ने पाया कि गांव में 29 लाभार्थियों में 4 लाभार्थी अपात्र है। जिनमें शिकायतकर्ता छोटेलाल का भी पक्का कमरा व बरामदा बना है। अपात्रों का चयन करने पर उक्त अधिकारियों ने ग्राम पंचायत विकास अधिकारी तथा ग्राम प्रधान के विरूद्ध कार्यवाही प्रस्तावित कर दी। मझिला ग्राम प्राईमरी पाठशाला के बीच से राईस मिलर द्वारा सड़क बनाकर आने-जाने की शिकायत पर जिलाधिकारी ने दरोगा, लेखपाल तथा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को मौके पर जांच करने के निर्देश दिये। उक्त तीनो अधिकारियों की बनी टीम ने मौके पर जाकर देखा तो पाया कि शिकायतकर्ता का कहना सही है। राईस मिलर द्वारा बनाई गई सड़क को 2013 में तत्कालीन उपजिलाधिकारी के आदेश से बन्द कर दी गई थी। जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि उक्त रास्ता बन्द रहेगा।
उक्त अवसर पर रसाकल्यान के नेकसू पुत्र जोधा ने बताया कि वह अभी जिन्दा है और उसे मरा दिखाकर वृद्धावस्था पेंशन बन्द कर दी गई है। इसपर जिलाधिकारी ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को निर्देश दिये कि उनकी पेंशन चालू की जाये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here