Home दिल्ली राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले, मैं गांव की मिट्टी में पला बढ़ा, हर...

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद बोले, मैं गांव की मिट्टी में पला बढ़ा, हर नागरिक है राष्ट्रनिर्माता

40
0
Listen to this article

नई दिल्ली :- संसद के सेंट्रल हॉल में रामनाथ कोविंद ने भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। आइये जानते हैं उनके भाषण की 20 बड़ी बातें

*1 * देश के सवा सौ करोड़ लोगों का आभार, जिन्होंने मुझे इस पद के काबिल समझा ।

*2* मेरी यात्रा बहुत लंबी रही, मैं गांव में मिट्टी के घर में पला-बढ़ा ।

*3* देश का हर नागरिक राष्ट्रनिर्माता है ।

*4* भारत की उपलब्धियां सदी की दिशा तय करेंगी।

*5* देश की सफलता का मंत्र इसकी विविधता है।

*6 * एक-दूसरे के विचारों का सम्मान करना ही लोकतंत्र की खूबसूरती है ।

*7 * 21वीं सदी का भारत चौथी औद्योगिक क्रांति के साथ पुरातन संस्कृति को साथ लेकर चलेगा।

*8 * हमें गर्व है देश के प्रत्येक नागरिक पर और अपने काम पर जो हम रोज करते हैं।

*9 * एक-दूसरे के विचारों का सम्मान करना ही लोकतंत्र की खूबसूरती है।

*10 * भारत के प्रत्येक नागरिक, संस्कृति, विविधता और सर्वधर्म समभाव पर गर्व है।

*11 * देश की सीमाओं की रक्षा करने वाला सशस्त्रबल राष्ट्रनिर्माता है।

*12 * देश के किसान और अथक परिश्रम करने वाला पुलिसबल राष्ट्रनिर्माता है।

*13 * सुदूर गांवों में मरीजों की सेवा करने वाले डॉक्टर्स राष्ट्रनिर्माता है।

*14 * भारत को तरक्की की राह ले जाने वाले वैज्ञानिक राष्ट्रनिर्माता है।

*15 * आम से अचार बनाने वाला और कारपेट बुनने वाला भी राष्ट्रनिर्माता है।

*16 * कश्मीर मामले पर हमारी जिम्मेदारी अहम है।

*17 * हम विश्व का नेतृत्व करने की काबिलियत रखते हैं।

*18 * पूरी विनम्रता के साथ ये पद ग्रहण कर रहा हूं।

*19 * सरकार सहायक हो सकती है, वो समाज को दिशा दे सकती है।

*20 * महात्मा गांधी और मदन मोहन मालवीय के सपनों का भारत होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here