Home बड़ी खबरें पुष्पांजली चौधरी नामक महिला मित्र के साथ, जमीनों पर कब्जे, जमीने हड़पने...

पुष्पांजली चौधरी नामक महिला मित्र के साथ, जमीनों पर कब्जे, जमीने हड़पने और ब्योरोक्रेसी में पोस्टिंग तबादलों सहित कई गंभीर आरोप

31
0
Listen to this article

जयपुर, राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के का आईएएस तन्मय कुमार पर संगीन आरोप तबादलों सहित कई गंभीर आरोप। सचिव तन्मय कुमार पर संगीन आरोप लगे हैं। यह आरोप जयपुर के पास आमेर तहसील के चिताणु गांव के लोगों की ओर से मिले पत्र के आधार पर आईपीएस पंकज चौधरी की ने राज्य के मुख्य सचिव अशोक जैन व प्रदेश के पुलिस महानिदेशक मनोज भटट को भेजे गए पत्र में लगाए हैं। स्टेट क्राइम रिकॉर्ड्स ब्यूरो द्धितीय में पुलिस अधीक्षक पंकज चौधरी ने मुख्य सचिव व डीजीपी से उच्च स्तरीय मामला होने के कारण निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की है ।आईपीएस चौधरी की ओर से भेजे गए पत्र के साथ में जो कागजात सम्मिलित हैं, उनमें चिताणु गांव के वासियों के हवाले से आईएएस तन्मय कुमार पर बेहद गंभीर आरोप लगाए गए हैं। चौधरी ने सीएस—डीजीपी को भेजे गए अपने पत्र में लिखा है कि पिछले दिनों उनको एक पत्र चिताणु ग्रामवासियों की ओर से प्राप्त हुआ है। जिसमें तन्मय कुमार पर कई आरोप लगाए गए हैं। उन्होंने आगे लिखा है कि यह नितांत जांच का विषय है, जिसमें एक वरिष्ठ आईएएस के उपर वे तमाम आरोप लगाए गए हैं, जो नैतिक मूल्यों के साथ पद के दुरुपयोग, भ्रष्टाचार, वित्तीय अनियमितता आदि को स्पष्ट रेखांकित कर रहे हैं।

आईपीएस चौधरी ने 3 जुलाई 2017 को भेजे गए अपने लेटर के साथ गांववालों के जो कागजात मुख्य सचिव व डीजीपी को भेजे हैं, उसमें आईएएस तन्मय कुमार पर शादीशुदा होते हुए पुष्पांजली चौधरी नामक एक अविवाहित महिला के साथ नाजायज संबं​ध होने के संगीन आरोप लगाए गए हैं। इतना ही नहीं, इसके साथ ही जयपुर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक रामेश्वर सिंह चौधरी पर भी इस कथित महिला के साथ नाजायज संबंध होने की बातें कहीं गई हैं। बताया गया है कि यह महिला चिताणु गांव में ही तन्मय कुमार के द्वारा खरीदकर दिलवाए गए फॉर्म हाउस में रहतीं है।

आईपीएस पंकज चौधरी का कहना है कि पत्र मिलने के बाद चिताणु गांव के कुछ लोग उनसे आकर मिले थे, जिन्होंने यह पत्र भेजने की बात कही थी। तीन पेज के इस पत्र में लिखा है कि आईएएस तन्मय कुमार ने पुष्पांजली चौधरी नामक इस औरत के माध्यम से रीको व जेडीए के ठेकेदारों को ठेके दिलवाकर पैसे लिए हैं। इसके साथ ही बताया गया है कि आईएएस तन्मय कुमार ने कई अन्य जमीनें खरीद कर इस औरत से मिलने वाले लोगों के नाम करवा रखी है। आरोप है कि इस मामले में गांव का सरपंच मामराज गुर्जर व उसका भाई बनवारी, जो कि कांग्रेसी हैं भी शामिल है। बताया गया है कि यह औरत साल 2018 में राजस्थान में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए आईएएस तन्मय कुमार के माध्यम से टिकट लेने की तैयारी में है।

कई अन्य संगीन आरोप के साथ भेजे हुए पत्र में कहा गया है कि तन्मय कुमार इस कथित औरत के माध्यम से कई आईएएस, आईपीएस अधिकारियों की पैसे लेकर पोस्टिंग करवाते हैं। जिनमें हाल में भरतपुर पुलिस अधीक्षक अनिल टांक, जयपुर पुलिस आयुक्तालय में डीसीपी साउथ मनीष अग्रवाल व पाली कलेक्टर के नाम बताए गए हैं। इतना ही नहीं जयपुर ग्रामीण एसपी चौधरी का ट्रांसफर भी इसी औरत के मार्फत पैसे लेकर करवाने की बात कही गई है।

आईएएस तन्मय कुमार पर संगीन आरोप

इस आरोपी पत्र में आईएएस तन्मय कुमार द्वारा इस कथित पूर्व जज की बेटी युवती को जयपुर के गांधी नगर में एक करोड़ रुपए का एक आलिशान फ्लैट दिलवाने का आरोप है। आईपीएस चौधरी द्वारा भेजे हुए पत्र में शामिल कागज में साफ लिखा है कि आईएएस तन्मय कुमार द्वारा जेडीए के पूर्व अधिकारी पवन अरोडा से भी एक लग्जरी कार अपनी बहन को दिलवाई थी। ये गाड़ी रैन्ज रोवर कंपनी की है, जिसकी कीमत 50 लाख रुपए बताई जा रही है। पत्र में मुख्यमंत्री को लिखा है कि आप ईमानदार मुख्यमंत्री हैं, प्रदेश को विकास की ओर ले जा रही हैं, लेकिन इस तरह के अधिकारी आपकी व सरकार की छवि को धुमिल करने में जुटे हुए हैं। पत्र में जांच करवाने की बात करते हुए कठोर कार्रवाई की मांग की गई है। इस मामले में आईएएस तन्मय कुमार से बात करने का प्रयास किया गया, लेकिन संपर्क नहीं हो सका है।

यह पत्र राजस्थान के डीजीपी मनोज भट्ट और मुख्य सचिव अशोक जैन के पास पहुंचने के बाद ब्योरोक्रेसी में तरह—तरह की चर्चाएं हो रही हैं। बताया जा रहा है कि जैसलमेर एसपी रहते आईपीएस पंकज चौधरी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज बुलंद करने का जो बीड़ा उठाया था, वह आज भी बदस्तूर जारी है। उसके बाद बूंदी एसपी रहते चौधरी ने साम्प्रदायिक दंगों को रोकने के मामले में भी आरोप—प्रत्यारोप लग चुके हैं। खैर! अब देखना यह दिलचस्प होगा, कि सीएमओ के सबसे बड़े अफसर पर लगे इन संगीन आरोपों को सरकार किस तरह से लेती है और क्या कदम उठाती है?

(राज.के ब्यूरो )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here