Home उत्तर प्रदेश गोरखपुर में हुए 63 मौतों की मै कड़े से कड़े शब्दो मे...

गोरखपुर में हुए 63 मौतों की मै कड़े से कड़े शब्दो मे निंदा करता हुये।

31
0
Listen to this article

लखनऊ, भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता साक्षी महाराज गोरखपुर के बाबा राघवदास मेडिकल कालेज में दो दिन में 48 लोगों की मौत पर काफी अचंभित हैं उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज ने गोरखपुर में बच्चों की मौत को नरसंहार बताया है भाजपा सांसद साक्षी महाराज ने आज अपनी ही सरकार पर हमला बोलते हुए कहा गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मासूमों की मौत सिर्फ मौत नहीं बल्कि नरसंहार है साक्षी महाराज ने कहा कि बच्चों की मौत सामान्य नहीं मानी जाएगी  साक्षी महाराज ने कहा मासूमों की मौत ऑक्सीजन सप्लाई न होने की वजह से हुई. उन्होंने ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी को पेमेंट न करने पर भी सवाल उठाए। योगी आदित्यनाथ सरकार को दोषियों के खिलाफ जल्द से जल्द सख्त एक्शन लेना चाहिए

गोरखपुर में हुए 63 मौतों की मै कड़े से कड़े शब्दो मे निंदा करता हुये।
लेकिन मुझे इसमे साज़िस की बूआ रही है
मरने वालों में  26 लोग दलित समाज से थे 18 लोग दबे कुचले पिछड़े तबके के थे और 15 लोग अल्पसंख्यक समाज के मोमीन भाई थे।।
जबकी बाबा साहेब ने ऑक्सीजन पर 70 प्रतिशत आरक्षण हमारे मूलनिवासी व अल्पसंख्यक भाइयो को दे रखा है तो फिर वे ऑक्सीजन की कमी से कैसे मर गए ?

अस्पताल के सूत्र कहते हैं कि ऑक्सीजन की सप्लाई में गड़बड़ी होने से बच्चों की मौत हुई है. यह अस्पताल प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद में आता है. पिछली 9-10 तारीख को खुद मुख्यमंत्री ने इस अस्पताल का दौरा किया था. उसके बाद भी इस तरह की लापरवाही सामने आई है. इस घटना पर विपक्षी दलों ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री के इस्तीफे की मांग की है

बताया कि ‘एक्यूट इन्सेफेलाइटिस सिन्ड्रोम यानी एईएस’ वार्ड में पांच तथा जनरल वार्ड में आठ बच्चों की मृत्यु हुई. उन्होंने बताया कि गुरुवार मध्यरात्रि से अब तक नियो नेटल वार्ड में तीन, एईएस वार्ड में दो और जनरल वार्ड में दो बच्चों की मौत हुई. शेष २३ मौतें नौ अगस्त की मध्यरात्रि से दस अगस्त मध्यरात्रि के बीच हुईं. इस सवाल पर कि क्या ये मौतें आक्सीजन की कमी की वजह से हुईं, रौतेला ने कहा कि उन्हें मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों ने स्पष्ट रूप से बताया है कि ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई.

यह जांच का विषय हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here