Home गांधीनगर IIT गांधीनगर में पीएम मोदी ने समझाया विकास का ‘JAM’ मॉडल

IIT गांधीनगर में पीएम मोदी ने समझाया विकास का ‘JAM’ मॉडल

40
0
Listen to this article

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को गुजरात के गांधी नगर में आईआईटी (IIT) कैंपस का उद्घाटन किया. इस मौके पर पीएम ने डिजिटल साक्षरता को देश के हर हिस्से तक फैलाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि डिजिटल डिवाइड होने से समाज में बड़ा असंतुलन पैदा हो जाएगा. पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार ‘JAM’ फॉर्मूले पर काम कर रही है. ‘J’ मतलब जनधन बैंक खाता. ‘A’ मतलब ‘आधार’ और ‘M’ मतलब मोबाइल. उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश है कि देश में डिजिटलीकरण को बढ़ावा देने के लिए सभी को ‘JAM’ से जोड़ा जाए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को आह्वान किया कि देश में किसी भी कीमत पर डिजिटल साक्षरता के मामले में विभाजन नहीं पैदा होना चाहिए.

मोदी ने यहां आईआईटी गांधीनगर के 1700 करोड़ की लागत से निर्मित तथा 400 एकड़ में फैले नए परिसर तथा ग्रामीण डिजिटल साक्षरता मिशन के लोकार्पण के मौके पर बोल रहे थे. कार्ल मार्क्‍स की चर्चा करते हुए मोदी ने कहा कि एक समय में उनका वर्ग संघर्ष और विभाजन का दर्शन चलता था जो अब सिमट कर नाम मात्र का रह गया है पर डिजिटल साक्षरता के मामले में विभाजन पैदा नहीं होना चाहिए. इस मामले में सतर्क रहना होगा कि कहीं ऐसा न हो कि कुछ लोग इसमें माहिर हों और बहुत लोगों को कुछ भी पता न हो. यह सामाजिक समरसता के लिए संकट पैदा कर सकता है. डिजिटल साक्षरता और डिजिटल इंडिया जैसे अभियान भ्रष्टाचार मुक्त और पारदर्शी प्रशासन और सुशासन की गारंटी बन सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here