Home गुजरात व्रतियों ने कमर भर पानी में प्रवेश कर अस्ताचलगामी (डूबते) सूर्य को...

व्रतियों ने कमर भर पानी में प्रवेश कर अस्ताचलगामी (डूबते) सूर्य को अर्घ्य देकर पुत्र, परिवार और कुल के मंगल की कामना की !

45
0
Listen to this article

त्याग, आस्था, विश्वास और संस्कार के महापर्व छठ पर शहर में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। कार्तिक शुक्लपक्ष की षष्ठी तिथि पर गुरुवार शाम शहर के तापी नदी के तट व्रतियों और सूर्य देवता का दर्शन करने आए लोगों से गुलजार रहे। नानपुरा स्थित नावड़ी ओवारा, जहांगीरपुरा स्थित इस्कॉन मंदिर ओवारा, डिंडोली के करावड़ा तालाब ,सचिन पलीगाम, सचिन  GHO सहित शहर के कई छोटे-बड़े तालाबों के साथ नदी के तटों पर छठ पूजा की गई।

शहर के लगभग डेढ़ लाख लोग छठ पूजा में शामिल हुए। दोपहर बाद से ही घाटों पर डाला छठ पर निर्जला व्रत रखने वाली महिलाओं व उनके परिवार के सदस्यों का जमघट होने लगा। व्रतियों ने कमर भर पानी में प्रवेश कर अस्ताचलगामी (डूबते) सूर्य को अर्घ्य देकर पुत्र, परिवार और कुल के मंगल की कामना की। नानपुरा स्थित नावड़ी ओवारा पर श्रद्धालुओं की भीड़ दोपहर 4 बजे से ही उमड़ी रही। और सचिन में  लोगों ने तालाबों और पालीगाम में मैदान में ही छठ पूजा के लिए तलाब बनाए. कार्यक्रम के प्रबंधक छठ पूजा समिति के अध्यक्ष  ने बताया कि पूजा के दौरान 10 हजार से भी अधिक लोग तट पर सूर्य देवता की आराधना करने पहुंचे। पिछले 32 वर्षों से छठ पूजा का आयोजन छठ पूजा समिति द्वारा किया जा रहा है। प्रत्येक वर्ष इस अवसर पर श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती ही जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here