Home झारखंड ग्रामीण आस्था से सर्प को मिला जीवनदान

ग्रामीण आस्था से सर्प को मिला जीवनदान

25
0
Listen to this article

हज़ारीबाग जिला के यामृतसर में पुरातन काल से ग्रामीण जीवन आस्था पर अटूट विश्वास रखता है| ग्रामीण आस्था का एक ज्वलंत उदाहरण हज़ारीबाग के सदर विधानसभा क्षेत्र के करबेकला (अमृतनगर के समीप) पंचायत स्थित केशुरा गाँव में देखने को मिला| यहाँ शाम करीब 04 बजे ग्रामीण भीम साव के मुर्गी फॉर्म के समीप एक नाग (कोबरा) सांप निकला|

 

सांप के निकलते ही ग्रामीण आस्था का सैलाब उमड़ने लगा| लोग इसे लेकर तरह- तरह की बातें करने लगे| कोई सूर्य भगवान का रूप तो कोई नाग देवता का आगमन मानकर पूजा- अर्चना में लीन होने लगे| देखते ही देखते आसपास के अमृतनगर, रोला, करबे- कला, शेखा, सिंघानी, बड़ासी सहित अन्य गांवों के लोग यहाँ पंहुचने लगे| रात भर लोगों ने जागराता भी किया|

आज इसकी जानकारी जब हमलोगों को हुयी तो सर्प रक्षक सह पत्रकार श्री मुरारी सिंह के साथ हमलोग गाँव पंहुचे और नाग सांप का रेस्क्यू कर उसे ग्रामीणों को डब्बे में डालकर सौप दिया|

ग्रामीण महिलाओं ने ढोल- तासे के साथ विधिवत पूजा- अर्चना करते हुए मधुर भक्ति गीत गाते हुए सांप को जंगल में जाकर छोड़ आया| इस तरह ग्रामीण आस्था ने एक सांप को जीवन दान प्रदान किया ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here