Home झारखंड गिरिडीह जिला में पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत, जिला परिषद स्थाई समिति...

गिरिडीह जिला में पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत, जिला परिषद स्थाई समिति की बैठक सभापति कामेश्वर पासवान की अध्यक्षता में संपन्न हुई

34
0
Listen to this article

गिरिडीह जिला में पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत शुक्रवार को जिला परिषद सभागार में जिला परिषद स्थाई समिति की बैठक सभापति कामेश्वर पासवान की अध्यक्षता में संपन्न हुई,बैठक में कार्यपालक पदाधिकारी विजय कुमार,जिला शिक्षा पदाधिकारी,जिला शिक्षा अधीक्षक जिला समाज कल्याण पदाधिकारी बाल संरक्षण अधिकारी एवं सिविल सर्जन के प्रतिनिधि डॉ.ए.के.खेतान पदाधिकारी के रुप में उपस्थित थे,समिति के सदस्य के रूप में गीता हाजरा,जयंती चौधरी,दीपा वर्मा,धनंजय राणा,मकसूद अंसारी,भोला सिंह, समीना हांसदा,किरण वर्मा, केशो रविदास,उपस्थित थे,बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए,सबसे पहले पिछले दिनों हुए बैठक की समीक्षा की गई,जिसमें कई सदस्यों ने पदाधिकारी से जवाब तलब किया कि पिछले दिए गए निर्णय पर क्या कार्यवाही हुई, जिसमें से कुछ कार्रवाई का निष्पादन प्रस्तुत किया बाकी कार्रवाई अभिलंब करने का पदाधिकारियों ने आश्वासन दिया,सदन को उसके बाद सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया,कि संस्थागत प्रसव प्रोत्साहन राशि जो जिले में वर्तमान समय में नहीं है,जिससे प्रसव होने के बाद महिलाओं को प्रोत्साहन राशि मिलती थी,वह नहीं मिल पा रही है

इसके लिए सरकार के सचिव को पत्राचार किया जाए,और राशि की मांग की जाए,कन्यादान योजना जो नए दंपत्तियों को शादी के उपरांत 30,0000/” की मिलती थी,उस मध्य में भी राशि नहीं रहने के कारण लोगों को कन्यादान योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है,उसके लिए भी विभागीय सचिव को पत्र निर्गत करने का निर्णय लिया गया,स्वास्थ्य समिति में निर्णय लिए गए कि गिरिडीह के 12 प्रखंडों में महिला चिकित्सक नहीं रहने के कारण महिलाओं को इलाज करने में काफी कठिनाइयो का सामना करना पड़ता है,क्योंकि जिले में मात्र चार या पांच महिला चिकित्सक हैं,जिससे पूरा जिला कंट्रोल नहीं हो पा रहा,उस परिस्थिति में प्रत्येक प्रखंड में जहां-जहां स्वास्थ्य केंद्र है,रेफरल अस्पताल है,वहां महिला चिकित्सक का पदस्थापन करने के लिए सरकार के सचिव को विभागीय मंत्री को पत्राचार करके आग्रह करने का निर्णय लिया गया,साथ ही साथ समाज कल्याण समिति का प्रतिनिधित्व करने पहुंचे जिला समाज कल्याण पदाधिकारी ने सदन को आश्वस्त किया सदस्यों के आग्रह पर की सभी सुपरवाइजर की उपस्थिति में एक बैठक जिले में हो ताकि प्रखंडों की समस्या का निष्पादन होने में आसानी हो सके जिसमें जिला परिषद की उपस्थिति हो,तथा यह भी निर्णय लिया गया सर्वसम्मति से कि सभी प्रखंडों में शिक्षा स्वास्थ्य महिला समाज कल्याण की बैठक में जिला परिषद सदस्य को आमंत्रण भेजा जाए,और उस बैठक में जिला परिषद सदस्य को आमंत्रण किया जाए ताकि प्रखंड में होने वाली बैठक में जिला परिषद अपनी समस्या को रख सके,और उसका निष्पादन विभाग के अधिकारी कर सकें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here