Home दुनिया सऊदी अरब ने संघर्षग्रस्त यमन से छोड़ी गई एक बैलिस्टिक की पहचान...

सऊदी अरब ने संघर्षग्रस्त यमन से छोड़ी गई एक बैलिस्टिक की पहचान कर उसे रियाद में नष्ट कर दिया. मिसाइल का मलबा राजधानी के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के भीतर गिरा.

37
0
Listen to this article

सऊदी अरब ने संघर्षग्रस्त यमन से छोड़ी गई एक बैलिस्टिक की पहचान कर उसे रियाद में नष्ट कर दिया। मिसाइल का मलबा राजधानी के अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के भीतर गिरा।ईरान सर्मिथत शिया हूती विद्रोहियों ने मिसाइल हमले की जिम्मेदारी ली है।सऊदी अरब की राजधानी को निशाना बनाकर किया गया यह पहला हमला है जो यमन में संघर्ष से बढ़ते खतरे को दिखाता है। रियाद में रहने वाले लोगों ने शहर के उत्तर में स्थित किंग खालिद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे के समीप कल मिसाइल को गिराए जाने के बाद धमाके की तेज आवाज सुनी। अधिकारियों के मुताबिक, इसमें कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ या कोई हताहत नहीं हुआ।
सऊदी प्रेस एजेंसी ने गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अल मलिकी के हवाले से कल कहा, ‘‘आज शाम को यमन के क्षेत्र से सऊदी अरब की ओर एक बैलिस्टिक मिसाइल दागी गई। नागरिकों और आबादी वाले इलाकों को निशाना बनाने के लिए मिसाइल दागी गई। मिसाइल के नष्ट किए गए टुकड़े हवाईअड्डे के गैर आबादी वाले इलाके में गिरे और किसी को चोट नहीं पहुंची है।’’ हूती के अल मसीराह टीवी चैनल के अनुसार, हूती विद्रोही हवाईअड्डे को निशाना बना रहे थे। विद्रोहियों ने रियाद से 1,200 किलोमीटर से अधिक दूरी से मिसाइल दागी।


नागरिक उड्डयन अधिकारियों ने बताया कि हवाईअड्डे पर सामान्य ढंग से कामकाज हो रहा है और विमानों का संचालन निर्धारित समय पर किया जा रहा है। हालांकि स्थानीय लोगों ने बताया कि सुरक्षा वाहनों ने कुछ सड़कों को बंद कर दिया है।पूर्व में, हज यात्रा शुरू होने से पहले जुलाई में यमन से दागी गई एक बैलिस्टिक मिसाइल को मक्का के नजदीक मार गिराया था।
ये हमले दिखाते हैं कि वर्ष 2015 में सऊदी नेतृत्व वाले गठबंधन के सैन्य हस्तक्षेप के बाद से यमन में चल रहा युद्ध अपनी सीमा के बाहर भी फैल रहा है। मिसाइल हमलों के अलावा विद्रोही लगातार सऊदी अरब में घुसपैठ भी करते हैं जिससे संघर्ष के फैलने का खतरा बढ़ गया है।  जिकान और नकारान प्रांतों में स्कूलों, मस्जिदों और घरों पर हजारों मार्टार और रॉकेट से हमले किए गए। सीमावर्ती शहरों से खाली कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here