Home बड़ी खबरें औलौ के साथ बारिश, सर्द मौसम से कांपा बाड़मेर

औलौ के साथ बारिश, सर्द मौसम से कांपा बाड़मेर

150
0
Listen to this article
बाड़मेर , पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से जिले में सोमवार को तेज हवा के बाद हुई बारिश के साथ ग्रामीण इलाकों में कई जगह ओले गिरे। शहर सहित जिले में शाम को अचानक तेज हवाओं के चलते बारिश हुई। कई इलाकों में बूंदाबांदी तो ग्रामीण क्षेत्रों में हल्की बारिश हुई। कुछ गांवों में चने के आकार के ओले भी गिरे है। शहर में रात 9.30 बजे के बाद बिजली की कड़कड़ाहट के साथ बारिश हुई। तेज हवाओं के साथ मौसम का मिजाज बदल गया
शादी समारोह में परेशानी, ठण्डी हवा ने झकझोरा ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश होने के कारण शादी समारोह के आयोजकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसके साथ बिजली गुल रहने से भी परेशानी हुई। लोगों ने ठण्ड से बचने के लिए गर्म कपड़ों व अलाव का सहारा लिया।
*रामसर*
क्षेत्र में सुबह से ही आसमान बादलों से ढका रहा। दिनभर ठंडी हवा चलती रही। दोपहर बाद आसमान में काली घटाएं छा गई और बूंदाबांदी शुरू हो गई। क्षेत्र के बसरा, जायडू, रामसर, तामलियार, गंगाला, खड़ीन सहित कई गांवों में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई।
*गडरारोड़*
सीमावर्ती क्षेत्र में शाम को घनघोर घटाओं और ठंडी हवा का दौर शुरू हो गया। शाम होते ही हल्की बूंदाबांदी के साथ तेज बौछार शुरू हुई। क्षेत्र में कई गांवों में ओले भी गिरे। अकाल से प्रभावित गांवो में ओले गिरने से पशु पालकों के लिए समस्या बढ़ गई।
*सिणधरी*
यहां अलसुबह से ही शीत लहर के साथ आकाश में बादल छाए रहे। दिनभर बादलों के जमघट के साथ ही तेज हवा चलने से से एक बार फिर ठंड महसूस की गई।
*धोरीमन्ना*
मौसम में आए बदलाव के चलते सर्द हवाओं का दौर शुरू हुआ। दिनभर तेज हवा के बाद शाम को हल्की बूंदाबांदी हुई।
बारिश के बाद मौसमी बीमारियों के प्रकोप का खतरा बढ़ गया है।
*शिव*
उपखंड मुख्यालय सहित क्षेत्र के आस-पास के गांवों में काले घने बादल छाए रहे। वहीं रह- रह कर बूंदाबांदी भी हुई। दोपहर बाद चली तेज हवाओं से जनजीवन के साथ पशुधन भी बेहाल हो गया। पूरे दिन सूर्य भगवान के दर्शन नहीं हुए, जिससे लोगों को परेशानी हुई।
*बायतु*
क्षेत्र में सोमवार देर रात बारिश के साथ ओले गिरे। इससे सर्दी का असर बढ़ गया। इससे पहले अलसुबह से ही सर्द हवाएं चल रही थी। दोपहर में हल्की बूंदाबांदी हुई। शाम तक बादल छाए रहे,जिससे मौसम सर्द रहा। देर रात बारिश के साथ ओले गिरे।
*धोलानाडा*
गांव में सोमवार सुबह से दोपहर तक ठण्डी हवा चली। शाम को बारिश होने से सर्दी का असर बढ़ गया।
*रामसर*
क्षेत्र के गागरिया कस्बे में सोमवार देर रात ओलावृष्टि हुई। इस दौरान ओलों की सफेद चादर बिछ गई, जिससे तापमान मेभारी गिरवट आई।
*बालोतरा*
मौसम परिवर्तन पर सोमवार को आसमान में पूरे दिन हल्के बादल छाए रहे। इससे बढ़ी सर्दी पर लोग ऊनी कपड़ों में ढके रहे। खुशनुमा मौसम का जहां लोगों ने आनंद उठाया, वहीं इससे फसलों में मौसमी रोग व नुकसान होने को लेकर किसान परेशान दिखाई दिए। मौसम में बड़े बदलाव पर रविवार आधी रात बाद से सर्द हवाएं चली। वातावरण में बढ़ी नमी पर सुबह हल्का कोहरा नजर आया। इस पर धूप नहीं निकली। सुबह नौ बजे हल्की धूप निकली, लेकिन सूरज के बादलों की ओट में छिप जाने पर यह भी गायब हो गई। पूरे दिन धूप व छांव में लुकाछिपी का खेल रहा। लोग धूप को तरस गए। दोपहर में हल्की बूंदाबांदी हुई। इससे बढ़ी सर्दी पर लोग पूरे दिन गर्म कपड़ों से ढके रहे। खुशनुमा हुए मौसम का हरेक ने आनंद उठाया। गर्म नमकीन, पकौड़ों की दुकानों पर लोगों की भीड़ अधिक उमड़ी। वहीं दूसरी ओर मौसम परिवर्तन से खड़ी फसलों में रोग लगने व इससे नुकसान होने की आशंका को लेकर किसान परेशान दिखाई दिए। वे ईश्वर से बादल छंटने व आसमान साफ होने की प्रार्थना करते दिखाई दिए। सर्दी पर शाम होते ही बाजारों व मुख्य मार्गों से चहल-पहल व रौनक गायब हो गई।
*समदड़ी*
मौसम में बदलाव पर सोमवार को दिनभर कोहरा छाया रहा। बादलों के जमघट पर दिनभर धूप नहीं निकली। ठण्डी हवाओं का दौर दिनभर चलने व धूप नहीं निकलने से दिनभर ठिठुरन बनी रही। लोग गर्म कपड़ों से ढ़के नजर आए। सुबह आवागमन करने वाले वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ा। मौसम के इस बदलाव से रबी की फ सलों में रोग प्रकोप होने की आशंका को लेकर किसानों में निराशा का माहौल बना हुआ है।
मोकलसर. मोकलसर व आस-पास के गांवों में सोमवार को पूरे दिन बादल छाए रहे। बढ़ी सर्दी पर लोग ऊनी कपड़ों में ढके रहे। शाम होते ही बाजारों से रौनक गायब हो गई।
*सिवाना*
कस्बे व क्षेत्र में सोमवार को घने बादल छाए रहे। इस पर लोग धूप को तरस गए। सर्दी से बचने को लेकर लोग पूरे दिन गर्म कपड़ों में लिपटे रहे। किसान मावठ की बारिश होने को लेकर आशंकित नजर आए। इस पर किसान ईश्वर से बादल छंटने व मौसम के साफ होने को लेकर प्रार्थना करते दिखाई दिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here