Home बड़ी खबरें आलाकमान करेंगे वहीं होगा,मानवेंद्र सिंह‘ के खेमे की चिंता

आलाकमान करेंगे वहीं होगा,मानवेंद्र सिंह‘ के खेमे की चिंता

108
0
Listen to this article
ब्यूरों बाड़मेर,लोकसभा के चुनावी रण में उम्मीदवार उतारने को लेकर कांग्रेस ओर भाजपाइयों के नेताओं ने तैयारी तेज कर दी है। प्रत्याशियों के चयन की कवायद में जुटी कांग्रेस के भीतर बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट को लेकर सियासी उलझनें बढ़ती नजर आ रही है। भाजपा को छोडकऱ कांग्रेस में शामिल होने वाले मानवेंद्र सिंह की दावेदारी जहां इस सीट पर मजबूत बनी हुई है। वहीं, गहलोत सरकार में कैबिनेट मत्री हरीश चौधरी ने भी अपनी दावेदारी को आगे रखते हुए इस सीट पर प्रत्याशियों के चयन की कवायद को उलझा दिया है। उन्होंने इस सीट पर दावेदारी करते हुए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात की है। बताया जा रहा है कि इसी को लेकर वे दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। उन्होंने राहुल गांधी, मुख्यमंत्री गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष पायलट से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद जहां मानवेंद्र के खेमे में चिंता बढ़ गई है, वहीं, पार्टी के आलानेता भी असमंजस में पड़ते नजर आने लगे हैं।
पार्टी सूत्रों के अनुसार प्रत्याशियों के चयन के दौरान आला नेताओं का फोकस राजस्थान में पहले चरण में होने वाले मतदान वाली सीटों को लेकर है। इन सीटों में बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीटें भी शामिल हैं। जिन पर मानवेंद्र सिंह की दावेदारी शुरु से ही बनी हुई है। उनके समर्थक भी लगातार इस बात का संकेत दे रहे हैं कि मानवेंद्र सिंह इसी सीट से चुनाव लड़ेंगे। लेकिन, अब इस सीट पर कैबिनेट मंत्री हरीश चौधरी की दावेदारी सामने आने के बाद पार्टी के आलानेताओं के सामने उलझन पैदा हो गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अपनी दावेदारी को पुख्ता करने के लिए हरीश चौधरी दिल्ली में राहुल गांधी से उनके आवास पर मुलाकात भी कर चुके हैं। जिसमें उन्होंने बाड़मेर-जैसलमेर लोकसभा सीट से दावेदारी जताई है। हरीश चौधरी की आलानेताओं के साथ इस मुलाकात के बाद इस सीट को लेकर सियासी माहौल चरम पर पहुंचता नजर आ रहा है।
हरीश चौधरी भी इस सीट से रह चुके हैं पूर्व सांसद हरीश चौधरी के दिल्ली में आलानेताओं से मुलाकात के बाद सियासी माहौल चरम पर जाता नजर आ रहा है। हरीश चौधरी की दावेदारी सामने आने से पहले मानवेंद्र के नाम पर एक राय बनती नजर आ रही थी। लेकिन, अब पार्टी के शीर्ष नेता असमंजस में दिखाई दे रहे हैं। क्योंकि, हरीश चौधरी भी इस सीट से पूर्व सांसद भी रह चुके हैं। ऐसे में दोनों ही नेता अपने क्षेत्र में प्रभावशाली और खास पकड़ रखने वाले हैं।
सोमवार को फिर स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक देर रात तक चलने के बाद आज फिर स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक शुरू हुई। बैठक में मंथन राज्य की
सभी 25 सीटों को लेकर हो रहा है, लेकिन कमेटी का फोकस फिलहाल पहले फेज की 13 सीटों पर है। इन सीटों के लिए 21 दिन बाद 2 अप्रेल से नामांकन प्रक्रिया शुरू हो रही है। ऐसे में माना जा रहा है कि कांग्रेस उम्मीदवारों की सूची दो फेज में जारी कर सकती है। स्क्रीनिंग कमेटी में सभी सीटों के लिए सिंगल नाम के पैनल तैयार करने पर ज्यादा जोर है। लेकिन उम्मीद की जा रही है कि 3 से 4 सीटों पर सहमति नहीं बनी तो दो नाम का पैनल सीईसी में भेजा जा सकता है।
इस सम्बन्ध में कर्नल मानवेन्द्र सिंह से बात करने पर बताया की आलाकमान के निर्देश मिलने पर ही वास्तविक स्थिति होगी और अभी में स्वयं ही असमंजस की स्थिति में हूं। बाड़मेर जिला मुख्यालय पर आवास में लोगों से मिलकर मोजूदा समीकरणों का रूझान लें रहा हूं।
भाजपा की ओर से टिकट मिलने के संभावित उम्मीदवार कर्नल सोनाराम चौधरी से बात करने पर बताया गया बाड़मेर जैसलमेर कि जनता ने पिछले बीस पच्चीस साल से मेरे को विजय दिलाई थी, ओर आगे आलाकमान ने मुझे भाजपा का टिकट दिया तो में अपनी पूरी ताकत झोंक कर लोकसभा चुनावों में सीट निकालकर दिखाऊंगा ओर अभी बाड़मेर विधानसभा चुनावों में करारी हार के लिए जनता जनार्दन की भावनाओं की मे कद्र करता हूं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here