Home उत्तर प्रदेश बदहाल कांगेस के साथ गठबंधन को कतरा रहीं राजनीतिक पार्टियां : स्मृति...

बदहाल कांगेस के साथ गठबंधन को कतरा रहीं राजनीतिक पार्टियां : स्मृति ईरानी

123
0
Listen to this article

कानपुर, हि.स.)। लोकसभा चुनाव का प्रचार करने रविवार को कानपुर आयी केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस अपने कार्यों के कारण बदहाल हो गयी है। स्थिति यहां तक आ पहुंची है कि कांग्रेस के साथ कोई भी राजनीतिक पार्टी गठबंधन को तैयार नहीं है। अब तो यह भी सुनने में आ रहा कि कांग्रेस अध्यक्ष भी अमेठी के साथ दूसरी जगह से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। जिससे यह बात साबित हो रही है कि कांग्रेस लोकसभा चुनाव से पहले ही हार मान चुकी है।
लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा ने भले ही अभी कानपुर से अपना प्रत्याशी न उतारा हो पर इस चुनाव की पहली जनसभा की बाजी भाजपा ने ही मारी। चुनाव की पहली जनसभा में विजय का संकल्प लेकर कानपुर पहुंची केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का काली मठिया चौराहे पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने जोरदार स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने हाथ जोड़कर सबका अभिवादन स्वीकार किया। मंच के आसपास चारों तरफ भारी संख्या में महिलाएं और पुरुष मंत्री को सुनने पहुंचे। मंच को सम्बोधित करने से पहले जैसे ही उन्होंने माइक संभाला सबसे पहले भारत माता की जय का लंबा नारा लगाया। जिसके बाद उन्होंने अपना उद्बोधन शुरु किया। उन्होंने शुरुआत करते ही खुद को गंगा मैया की बेटी बताते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका पर तंज कसते हुए कहा कि अमेठी के लोगों ने कह दिया है कि कांग्रेस अध्यक्ष की दाल अब नहीं गलने वाली है। वहीं उन्होंने कानपुर की उस क्रांतिकारी धरती के बारे में बताया जिसने अंग्रेजों को भगाया। कहा कि यह धरती कहती है कि भाग राहुल भाग। उन्होंने सरकार की उपलब्धियों का गुणगान करते हुए कहा कि चार साल में नौ करोड़ लोगों को शौचालय दिया। किसान सम्मान योजना के तहत पहली बार हर साल छह हजार रुपया दिया। कांग्रेस के राज में गांव में अंधेरा और नेताओं के घर उजाला बना रहा। तीस करोड़ से ज्यादा लोगों को आर्थिक योजनाओं से जोड़ा। जबसे नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री और योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने तो कानपुर में मेट्रो का काम हो रहा है। सभी से निवेदन करते हुए कहा कि नरेन्द्र मोदी को फिर से आशीर्वाद दें, कानपुर को और भी सौगातें मिलेंगी। इस दौरान प्रदेश महामंत्री अशोक कटारिया, विधायक नीलिमा कटियार, जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानी, पूर्व विधायक रघुनंदन सिंह भदौरिया, पूर्व मंत्री बाल चन्द्र मिश्रा आदि मौजूद रहें।
कमल पर आती है लक्ष्मी
स्मृति ईरानी ने गठबंधन पर चुटकी लेते हुए कहा कि जो साइकिल और हाथी पर सवार हैं वह मेट्रो का सपना कहां देखेंगे। हाथी साइकिल पर सवार होता है तो विकास की गाड़ी पंचर हो जाती है। कहा, अगर लक्ष्मी को घर लाना है तो साइकिल और हाथी पर नहीं कमल को अपनाये। लक्ष्मी कमल पर ही आती है।
इस दौरान उन्होंने कांग्रेस के एडवाईजर सैम पेत्रोदा के बयान पर जमकर निशाना साधा। कहा कि सैनिक की बहादुरी पर शक करने वालों पर धिक्कार है, जो कहते हैं कि पुलवामा जैसी घटनाएं तो होती ही रहती हैं। 26/11 के हमले के बाद भी कांग्रेस सरकार ने कुछ नहीं किया। उन्होंने मंच से लोगों से अपील करते हुए कहा कि ऐसे लोगों को कतई आशीर्वाद न दें जो देश की सेना पर शक करता हो। जिसके बाद स्मृति की जनसभा भारत माता की जय के उद्घोष के साथ समाप्त हुई।
सांडों ने जनसभा में डाली खलल
काली मठिया में भाजपा की जनसभा को जिस समय स्मृति ईरानी संबोधित कर रही थींं, उसी समय भीड़ के पीछे से अचानक दो सांड लड़ते हुए घुस आये। जिससे अफरा-तफरी का माहौल बन गया। स्मृति ने अपना भाषण रोकते हुए कार्यकर्ताओं से कहा कि पहले सभी का हाल चाल लें। करीब 15 मिनट तक अफरा-तफरी का माहौल रहा और कई लोग घायल हो गयें। स्मृति ईरानी ने माइक से ही सभी के विषय में जानकारी ली। इसके बाद फिर संबोधन शुरु कर दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here