Home मध्यप्रदेश ढाई सौ से अधिक शासकीय सेवक देंगे पल-पल की जानकारी

ढाई सौ से अधिक शासकीय सेवक देंगे पल-पल की जानकारी

54
0
Listen to this article

भोपाल, (हि.स.)। जिला पंचायत सभागार भोपाल में मंगलवार को लोकसभा निर्वाचन 2019 के लिये भारत निर्वाचन आयोग के दिशा-निर्देशों के अनुरूप विधानसभावार गठित कम्युनिकेशन दल के नोडल अधिकारी, सेक्टर प्रभारी तथा अन्य सदस्यों का एक दिवसीय प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। यह 250 सदस्यीय टीम चुनावी गतिविधियों की पल पल की जानकारी देगी।

कम्युनिकेशन प्लान के नोडल अधिकारी संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय विभाग मनोज तिवारी ने सभी को प्लान के मुताबिक संपादित किये जाने वाले कार्यों तथा दायित्वों से अवगत कराया। उल्लेखनीय है कि सामग्री वितरण से लेकर मतदान समाप्ति के पश्चात सामग्री जमा होने तक सभी मतदान केन्द्रों की आवश्यक जानकारियां/गतिविधियां कम्युनिकेशन टीम के माध्यम से जिला निर्वाचन अधिकारी सहित संबंधित अधिकारी को प्राप्त होंगी।

प्रत्याशी ने यदि स्टार प्रचारक के साथ यात्रा की तो आधा खर्च निर्वाचन व्यय में जुड़ेगा

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम खाड़े ने बताया कि लोकसभा निर्वाचन के दौरान उम्मीदवारों को चुनाव खर्च के मामले में बेहद सतर्क रहना होगा। निर्वाचन व्यय पर आयोग और विभिन्न टीमों की लगातार निगरानी रहेगी। उम्मीदवारों की चुनाव प्रचार संबंधी हर गतिविधियाँ वीडियोग्राफी के जरिए कैमरे में दर्ज होगी। इसी कड़ी में चुनाव के दौरान राजनैतिक दलों के स्टार प्रचारकों का दौरा, रैली, सभाओं पर भी विशेष निगाह रखी जायेगी।
यदि उम्मीदवार स्टार प्रचारक के साथ यात्रा करता है तो पचास प्रतिशत यात्रा खर्च प्रत्याशी के चुनाव खर्च में जोड़ा जायेगा। यदि उम्मीदवार स्टार प्रचारक के साथ पंडाल सभा करता है और सभा में अपने नाम के साथ उसका फोटो या पोस्टर प्रदर्शित करते हैं तो सभा का खर्च भी प्रत्याशी के खाते में जोड़ा जायेगा। स्टार प्रचारक के साथ यात्रा खर्च में उन्हीं को छूट मिलेगी, जो परिचारक, सुरक्षा एवं चिकित्सा कर्मी, प्रिंट या इलेक्ट्रानिक मीडिया का कोई प्रतिनिधि, कोई व्यक्ति या दल का सदस्य जो चुनाव क्षेत्र का प्रत्याशी तथा प्रत्याशी के चुनाव अभियान में सम्मिलित नहीं है।
सभी दलों और अभ्यर्थियों को निर्वाचन विधि के अधीन भ्रष्ट आचरण और अपराध से बचना चाहिये

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. सुदाम खाड़े ने बताया कि आदर्श आचरण संहिता के अनुसार सभी दलों और अभ्यर्थियों को ऐसे सभी कार्यों से ईमानदारी के साथ बचना चाहिये, जो निर्वाचन विधि के अधीन भ्रष्ट आचरण और अपराध है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाताओं को रिश्वत देना, मतदाताओं को डराना, धमकाना, प्रतिरूपण करना मतदान केन्द्र के 100 मीटर के भीतर मत याचना करना, मतदान की समाप्ति के लिए नियत समय को खत्म होने वाली 48 घंटे की अवधि के दौरान सार्वजनिक सभाएं करना और मतदाताओं को वाहन से मतदान केन्द्रों तक ले जाना और वहां से वापस लाना जैसे कार्यों से बचना चाहिए।
वाहनों पर रखी जायेगी नजर

लोकसभा निर्वाचन की घोषणा के साथ ही जिले में व्यय अनुवीक्षण दल, उडऩदस्ता दल और स्थैतिक व्यय निगरानी दल गठित कर वाहनों सहित संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखी जा रही है। वाहन चेकिंग के दौरान यदि किसी व्यक्ति के पास बड़ी मात्रा में नकदी पाई जायेगी तो उसे इस राशि का स्त्रोत बताना होगा। असुविधा से बचने के लिए बैंक की पासबुक, एटीएम की स्लिप, रसीद या अन्य कोई प्रमाण साथ में रखना होगी। काम धंधे या अन्य कोई जरूरत के अनुसार व्यक्ति वाहन से यात्रा करते समय अपने पास नगद राशि लेकर चलते हैं तो उन्हें अपने साथ नकदी रखने का प्रमाण बताना होगा। इससे जाँच के दौरान प्रमाणों के परीक्षण में सुविधा होगी और संबंधित व्यक्ति को भी अनावश्यक रूप से परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here