Home उत्तर प्रदेश आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे हादसे में जौनपुर के सात घरों का बुझा चिराग

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे हादसे में जौनपुर के सात घरों का बुझा चिराग

49
0
Listen to this article

जौनपुर, (हि.स.)। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर फतेहाबाद क्षेत्र में गुरुवार को हुए सड़क हादसे में जौनपुर के सात घरों का चिराग बुझ गया। हादसे की खबर मिलते ही मृतकों के घर शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लग गया। मृतकों के परिजन घटनास्थल के लिए रवाना हो गये हैं।जौनपुर के निवासी सात लोग गुरुवार को आगरा अंबेडकर विश्वविद्यालय की खंदारी कैंपस में टीचर के लिए इंटरव्यू देने लखनऊ जा रहे थे। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर इनकी कार के आगे आगे एक ट्रक भी चल रहा था। अचानक कार आगे चले रही ट्रक में घुस गई। टक्कर के बाद ट्रक और कार के टायर फट गए। पुलिस ने कार में फंसे आठ लोगों को बाहर निकाला जिनमें छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि दो लोगों ने अस्पताल पहुंचते-पहुंचते दम तोड़ दिया। मृतकों में सात जौनपुर के और एक आजमगढ़ का बताया जा रहा है।
मृतकों में जौनपुर के सदाफल यादव पुत्र राम सिंह यादव निवासी देव रायपुर बदलापुर जौनपुर, कमलेश कुमार पांडेय पुत्र बाबूराम पांडेय निवासी बाग बहार थाना पवई, आजमगढ़, राकेश पुत्र उमाशंकर निवासी ओइया पुराइना जौनपुर, कमलेश यादव पुत्र संवाद लाल यादव निवासी ओइया पूराइन जौनपुर, अखिलेश यादव पुत्र तुलसी प्रसाद यादव निवासी घाटी जौनपुर, नागेश यादव निवासी सिद्दीकपुर जौनपुर, राजेश यादव पुत्र संतोष यादव सिद्दीकपुर थाना सरायख्वाजा जौनपुर, अनिल कुमार पुत्र राम अवध निवासी जौनपुर हैं।
किसी की मांग सूनी हुई तो किसी के बुढ़ापे का सहारा छिना
लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हुए सड़क दुर्घटना में नगहटी गांव थानसरायख्वाजा के युवक अखिलेश यादव (35 वर्ष) की मृत्यु से पूरे गांव को सदमा लगा है। पत्नी पूनम पति की मौत के गम में रोते-रोते बेसुध सी हो गयी है। मां जड़ावती की बेटे के लिए चीत्कार सुनकर उपस्थित लोगों की आंखे भर आईं। पिता तुलसी बेटे को खोने के गम में पथराई आंखों से परिजनों को चुप हो जाने की सांत्वना दे रहे थे। घर के बेटे की मौत से जहां बूढ़े मां-बाप का सहारा छिन गया तो दूसरी तरफ पत्नी पूनम की मांग सूनी हो गई। अखिलेश के जुड़वां बच्चों डेढ़ साल के उज्ज्वल तथा विक्रांत को अब पिता का साया ताउम्र नसीब नहीं हो पायेगा।
लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर हुए भीषण सड़क दुर्घटना में मृत लोगों में जौनुपर के कमलेश पाण्डेय भी हैं। कमलेश के निधन की खबर लगते ही राम अवध यादव गन्ना कृषक महाविद्यालय में शोक की लहर दौड़ गयी। आजमगढ़ जनपद के पवई थानान्तर्गत बागबहार गांव निवासी कमलेश कुमार पाण्डेय राम अवध यादव गन्ना कृषक महाविद्यालय में बीएड संकाय में स्व वित्त पोषित योजना के तहत प्रवक्ता थे। कमलेश पाण्डेय के निधन की खबर लगते ही महाविद्यालय में शोक की लहर दौड़ गयी। प्राचार्य डा. वीरेंद्र विक्रम यादव की अध्यक्षता में दो मिनट का मौन रखकर मृतक आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना की गयी। प्राचार्य ने बताया कि कमलेश बेहद मिलनसार व नेक इंसान थे। दो भाइयों में वह दूसरे नंबर पर थे। बड़े भाई घर पर रहकर ही खेती का काम देखते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here