Home क्राइम मजूरा गेट सर्कल के पास जहर पीये युवक को न्यू सिविल हास्पिटल...

मजूरा गेट सर्कल के पास जहर पीये युवक को न्यू सिविल हास्पिटल में भर्तीलोनदारों के त्रास के कारण जहर पिया इस आशय का सुसाइड नोट मिला

114
0
Listen to this article

सूरत। बुधवार को मजूरागेट सर्कल के पास से आज सवेरे एक युवक जहर पिये हुए अद्र्ध बेहोशी की हालत में मिला, जिससे 108 की मदद से न्यू सिविल हास्पिटल मेïं उपचार हेतु भर्ती किया गया। इस सम्बन्ध में जïानकारी मिलने पर परिजन भी दौडक़र हास्पिटल आ गए। यह युवक दो दिनों से गुम था जिसे लोग ढुंढ रहे थे। जबकि युवक ने गुम होने से पहले दो पन्ने की सुसाइड नोट लिखकर छोड़ गया था जिसमें लेनदारों के त्रास के कारण आत्महत्या करने का उल्लेख किया गया है।
इस घटना से प्राप्त विगतों के अनुसार खटोदरा विस्तार में स्थित गांधीनगर में नितिन रसिक लïाल राणा सपरिवार रहते है पिता लकवाग्रस्त है इस बीच गत सोमवार को नितिन पिता को मिलने के िलए आया थाï, उसके बाद बिना कुछ कहे चला गया था, कल रात लेनदार पिता के घर आये थे और काफी हंगामा मचाया था और फिर चले गये थे। इस बिच नितिन द्वारा रखी गयी सुसाइड नोट घर वालों को मिल गयी थी जिससे परिजनों ने सुसाइड नोट पुलिस को सौंप दिया था एवं उन्हें ढुंढ रहे थे। आज सुबह नितिन मजुरा गेट सर्कल के पास जहर खाये हुए हालत में मिले जिससे राहदारियों ने नितिन के परिवार एवं 108 को सूचित किया था। इसके बाद 108 द्वारा न्यूसिविल हास्पिटल के उपचारार्थ भर्ती कराया था जहां उनकी हालत गंभीर थी ऐसी सूचना मिली।
युवकी की लिखी सुसाइड नोट में लिखा था कि मुझे मेरे प रिवार व लेनदारों के लिए कोई ऐसा गलत इरादा नहीं था कि इसमें में सफल हो जाउ और लोग जाये, मेरा तो एक मात्र उद्देश्य था कि मैं भी कमाउ और इन लोगों को भी कमा कर दुं। मेरा ये सपना सपना ही रह गया। न तो मैं अपने परिवार को ही सुखी रख सका न ही मेरे लेनदारों को। जब तक कमा के दूं तब तक लेनदार बहुंत खुश थे लेकिन जब से मैं बरबाद हो गया हुं तब से उन लोगों का व्यवहार भी बदल गया है मैं मेरे लेनदारों के त्रास के कारण यह कदम उठा रहा हूं और यह मेरा कदम मेरे परिवार व मेरे लेनदारों को शान्ति देगा। अब मेरे पास आत्महत्या के सिवाय कोई रास्ता नहीं है तथा इसकी सम्पूर्ण जवाबदारी भी मेरी है। मुझे बहुंत सताया है जिससे मैं तंग आ गया हूं मेरी लाश मिले तो परिवार से मेरी नम्र अरज है कि मुझे लावारिस लाश मेमेरी क्रिया विधि कराये क्योंकि मै जानता हुं कि मेरी मृत्यु क्रिया का भी पैसा मेरे घर में नहीं हैï। बस मेरी यही अन्तिम इच्छा पूरी करना। मैने सबकों बहुंत दुख दिया जिसके लिए में माफी मांगता हुं। हो शके तो मुझे माफ करना। पुलिस ने ये सुसाइड नोट अपने कब्जे में लेकर जांच शुरु कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here