Home जम्मू-काश्मीर अनंतनाग में जैश के दो आतंकी ढेर, जवान शहीद अनंतनाग में 24...

अनंतनाग में जैश के दो आतंकी ढेर, जवान शहीद अनंतनाग में 24 घंटे के भीतर दूसरा एनकाउंटर, कई आतंकी घिरे

272
0

श्रीनगर (ईएमएस)। जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में 24 घंटे के भीतर दूसरा एनकाउंटर शुरू हो गया है. सुरक्षा बलों ने वघामा इलाके में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के दो आतंकियों को मार गिराया है। इस दौरान सेना का एक जवान शहीद हो गया है। फिलहाल, सुरक्षाबलों की ओर से सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि अभी एनकाउंटर जारी है। हमने पूरे इलाके को घेर रखा है. मंगलवार सुबह हमें दो से तीन आतंकियों के छिपे होने की खबर मिली थी। इसके बाद यह ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

अनंतनाग में मेजर शहीद, एक आतंकी ढेर
इससे पहले अनंतनाग में सोमवार को आतंकवादियों से मुठभेड़ में सेना के एक मेजर शहीद हो गए और एक आतंकवादी को मार गिराया गया। मुठभेड़ में एक मेजर समेत तीन सैनिक घायल हो गए। पुलिस सूत्रों ने कहा था कि अनंतनाग के बिदूरा गांव में मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए और उनके शव को बरामद कर लिया गया लेकिन, अब कहा है कि घटनास्थल से केवल एक आतंकवादी के शव को बरामद किया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने कहा, सोमवार शाम को समाप्त हुए मुठभेड़ में सेना का एक अफसर शहीद हो गया और एक अधिकारी समेत तीन सैनिक घायल हो गए। उन्होंने कहा, घायल सैनिकों को श्रीनगर शहर में सेना के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि बिदूरा गांव में छिपे आतंकवादी और सुरक्षाबलों के बीच गोलीबारी के दौरान गंभीर रूप से घायल मेजर ने अस्पताल ले जाने के दौरान दम तोड़ दिया। एक सूत्र ने कहा, मुठभेड़ स्थल पर फिर से शुरु हुई गोलीबारी के दौरान एक मेजर गंभीर रूप से घायल हो गए और अस्पताल ले जाने के दौरान उनका निधन हो गया।

पुलवामा पार्ट 2 की फिराक में थे आतंकी
जम्मू कश्मीर घाटी में आतंकियों ने पुलवामा को फिर दोहराने की कोशिश की। दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों ने सोमवार को आईईडी लगी कार से सेना के पेट्रोलिंग वाहन को उड़ाने की कोशिश की। इसमें वाहन का अगला केबिन बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। सूत्रों के अनुसार घटना में वाहन का चालक शहीद हो गया। वाहन में सवार 19 जवान घायल हो गए। दो नागरिक भी घायल हुए हैं। घटना के तुरंत बाद आस-पास के इलाकों में आतंकियों को तलाशने के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया गया। यह हमला पाकिस्तान की ओर से आईईडी वाहन से हमले के इनपुट दिए जाने के बाद एक दिन बाद ही सोमवार को हुआ। इनपुट में दक्षिणी कश्मीर में संभावित हमले का खतरा बताया गया था। यह घटनास्थल 14 फरवरी को जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर पुलवामा जिले के लेथपोरा में सीआरपीएफ काफिले पर हुए कार बम आत्मघाती हमले वाले स्थान से 27 किलोमीटर दूर है। लेथपोरा के पास हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।

हमले के इनपुट के बाद से था अलर्ट
पाकिस्तान की ओर से आईईडी वाहन से हमले के इनपुट दिए जाने के बाद से पूरे राज्य में अलर्ट है। घाटी में सैन्य प्रतिष्ठानों, महत्वपूर्ण स्थानों तथा हाईवे पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। खासकर सुरक्षा बलों की कॉनवॉय के गुजरने के दौरान विशेष सतर्कता बरती जा रही है। पाकिस्तान ने दक्षिणी कश्मीर में संभावित हमले का खतरा बताया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here