Home क्राइम प्रेमिका के घर के सामने प्रेमी ने की आत्महत्या

प्रेमिका के घर के सामने प्रेमी ने की आत्महत्या

47
0
Listen to this article

नौगांव/हरपालपुर (ईएमएस)। इंजीनियरिंग का एक छात्र अपनी प्रेमिका के घर के सामने मरणासन्न हालत में था जैसे ही प्रेमिका के परिजनें को जानकारी लगी वैसे ही उन्होंने डायल 100 और 108 एंबुलेंस बुलाई जिसके सहारे छात्र को नौगांव और इसके बाद जिला अस्पताल भेजा गया लेकिन नाजुक हालत होने के कारण उसे ग्वालियर के लिए रिफर किया गया मगर रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। युवक के पास से एक सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने लिखा है कि प्रेमिका के परिवार के सताने के कारण उसने आत्महत्या की है। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर लाश को परिजनें को सौंप दिया और मामले की जांच शुरू कर दी है। जानकारी के मुताबिक नौगांव के मेला ग्राउण्ड के सामने रहने वाले विनोद कुमार गुप्ता का 20 वर्षीय पुत्र स्थानीय पॉलीटेक्निक कॉलेज में कम्प्यूटर साईंस से पढ़ाई कर रहा था। उसके साथ पढ़ने वाली इंजीनियरिंग की हरपालपुर की एक छात्रा से काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था 30 अगस्त को छात्रा के परिजनें ने शिवम के घर दोनें को एक साथ पकड़ लिया था। इसके बाद परिजनें ने न केवल शिवम के साथ मारपीट कर दी बल्कि उसके खिलाफ मामला दर्ज करा दिया था। मंगलवार को शिवम के माता-पिता छात्रा के घर पहुंचे और उसके परिजनें से माफी मांगी थी लेकिन इस दौरान भी शिवम के पिता के साथ छात्रा के परिजनें ने मारपीट कर पूरे परिवार को मारने की धमकी दी थी। अपने परिजनें के साथ शिवम वापस लौटा और रात में अपने दूसरे घर में सोने के लिए चला गया। शिवम के पिता का कहना है कि सुबह टेस्ट होने के कारण शिवम ने तीन बजे जगाने को कहा था। सुबह तीन बजे जब उसे जगाने के लिए आवाज लगाई तो कोई उत्तर नहीं मिला। तुरंत उन्होंने डायल 100 को सूचना दी और आसपास खोज की तो ज्ञात हुआ कि उनके पुत्र को 108 एंबुलेंस से हरपालपुर से नौगांव लाया गया है क्योंकि वह हरपालपुर में अपनी प्रेमिका के घर के सामने मरणासन्न स्थिति में था। छात्रा के परिजनें ने घर के सामने शिवम के मरणासन्न हालत में होने की सूचना डायल 100 और 108 एंबुलेंस को दी थी। वहीं मृतक के पिता का कहना है कि पुलिस द्वारा उसके बयानों के आधार पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की है। मामले में नौगांव थाना प्रभारी राकेश साहू द्वारा कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।
यह लिखा है सुसाइड नोट में
शिवम ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि वह बताना चाहता है कि वह अपनी मर्जी से आत्महत्या करने जा रहा है। इसमें उसके माता-पिता, भाई-बहिन की कोई गलती नहीं है। उसकी आत्महत्या के जिम्मेदार पेमिका के परिवार के सदस्य हैं उनके द्वारा उसे तथा पापा को प्रताड़ित करते रहे। प्रेमिका की फैमली ने मेरी फैमली को जान से मारने की धमकी दी जा रही है 3 सितम्बर को मेरे पापा प्रेमिका के घर गए थे तो उन्होंने कहा था कि तुम्हारे लड़के को पेट्रोल डालकर मार डालेंगे। तुम लोगें को जेल में डाल देंगे। लड़की के पापा ने मेरे पापा को मारा भी है। छात्रा की फैमली से परेशान होकर वह अपनी जान दे रहा है। तिलक सिंह, एसपी, छतरपुर का कहना है कि मृतक के खिलाफ कुछ दिन पहले छेड़छाड़ सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था। मृतक के पास से एक सोसाइड नोट मिला है। इसकी जांच कराई जा रही है। जिसके बाद ही सही जानकारी हो सकेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here