Home दिल्ली ग्रीन वर्ल्ड डे के उपलक्ष में रोहिणी कोर्ट परिसर में फलों...

ग्रीन वर्ल्ड डे के उपलक्ष में रोहिणी कोर्ट परिसर में फलों के पेड़ का वृक्षा रोपण

98
0
Listen to this article

ग्रीन वर्ल्ड डे की वर्ष गाँठ  १० अक्टूबर को दिल्ली के रोहिणी  कोर्ट परिसर और  बाहर ग्रीन बेल्ट में वृक्षों का रोपण किया गया  इसमें  भारी मात्रा  में फलों के  पेड़ भी थे इनमें मुख्यतः आम अमरुद तथा  अनार के पेड़ लगाए गए ।

जूडिशियल कॉउन्सिल द्वारा ग्रीन वर्ल्ड डे अर्थात पेड़ लगाओ और मुझे  सांस लेने दो  पर्यावरण  जानवर  , जीव जंतु  तथा  मनुष्य  को प्रदूषण से  सुरक्षा का प्रयास  अपने आप में एक  मिसाल है इसका  सबसे बड़ा   कारण  अभी तक पच्चीस से भी ज्यादा देशों के लोग इससे  जुड़ चुकें हैं और यह संख्या बढ़  रही है ।

इस वर्ष का विषय  है प्लांट ट्रीज लेट मी ब्रीथ  इसको जानवरों पशु पक्षिओं  समर्पित किया गया है ।

इस अवसर पर रोहिणी कोर्ट के  डिस्ट्रिक्ट एंड सैशन  जज नॉर्थ वेस्ट श्री दीपक जगोत्रा नें आम के पेड़ तथा डिस्ट्रिक्ट एंड सैशन  नार्थ  श्री आर पी पांडेय ने आम और अनार के पेड़ लगाए।

अवसर पर बोलते हुए डिस्ट्रिक्ट जज नार्थ वेस्ट श्री  जगोत्रा  ने कहा पर्यावरण को बचाने का प्रयास हर किसी को करना चाहिए और इस तरह के प्रयास बहुत अच्छे हैं ।

श्री आर पी पांडेय नें  ग्रीन वर्ल्ड डे पर श्री राजीव अग्निहोत्री और उनके साथियों को बधाई दी।

ऐ सी जे नॉर्थ वेस्ट डिस्ट्रिक्ट  रोहिणी कोर्ट श्री सुनील कुमार शर्मा नें आम और अनार के पेड़ लगाए ।

डायरेक्टर जनरल जूडिशियल कॉउन्सिल श्री राजीव अग्निहोत्री के अनुसार  पर्यावरण  के प्रति जनमानस  को जागरूक करने का  सरकार  का प्रयास  अभी बहुत काम है । और जब तक व्यक्ति खुद से जागरूक नहीं होगा पर्यावरण को सुरक्षित रख पाना बहुत मुश्किल है ।  श्री अग्निहोत्री  ने मुंबई में आरे में पेड़ों की हत्या पर अफ़सोस  जताया  तथा कहा  पेड़ असंख्य  मनुष्य  को  जीवन  प्रदान करते हैं और  उनका काटा जाना बहुत बड़ा अपराध  है । इसको रोकने के लिए कड़ी सजा का प्रावधान होना चाहिए साथ ही अमेज़न जंगल का जिक्र भी किया ।अमेज़न जंगल जो प्राकर्तिक जंगल हैं उसमे  लगी आग भी बहुत बड़ा चिंता का विषय है और आज  आवश्यकता है हम  मिल कर जंगल खड़ा करें अगर आज नहीं चेते तो बहुत  देर हो जाएगी और पूरे विश्व को चाहिए की वह आबादी के बीच कुछ भाग को फारेस्ट और इको सेंसेटिव जोन बनाये सिर्फ यूनाइटेड  नेशंस ही क्यों लोगो को जागरूक करे यह काम हर शहर  राज्य देश और व्यक्ति का है ।

श्री अग्निहोत्री नें कहा सरकार  को चाहिए की पर्यावरण  को बचाने और पेड़ लगाने की मुहीम लगातार चलनी चाहिए और पर्यावरण का विषय पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए

अमेरिका। जाम्बिआ बांग्लादेश सीरिया तथा अन्य यूरोपीय तथा अफ़्रीकी देशो में पेड़ लगाए गए।

कानपुर  लखनऊ धनबाद गुहाटी छपरा अमृतसर  बैंगलोर कोलकाता आदि शहरों में भारी संख्या में पेड़  लगाए गए ।

जूडिशियल कॉउन्सिल  ग्रीन वर्ल्ड डे पर प्रति वर्ष  विश्व स्तर पर  सम्मलेन का भी आयोजन करने की योजना बना रही है जिसमे प्रमुख पर्यावरणविदों को आमंत्रित किया जायेगा साथ ही पर्यावरण को बचाने  में प्रमुख भूमिका निभाने वाले लोगो को भी उनकी कॉउन्सिल सम्मानित करेगी  ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here