Home आप बीती डिलीवरी ब्वॉय पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला का यूटर्न

डिलीवरी ब्वॉय पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला का यूटर्न

102
0
Listen to this article

नोएडा (ईएमएस)। नोएडा में ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट अमेजन के डिलीवरी ब्वॉय पर हिप्नोटाइज कर रेप करने की कोशिश के मामले में नया मोड़ आ गया है। पीड़ित महिला ने केस वापस लेने की इच्छा जताई है। उसने कहा कि डिलीवरी ब्वॉय के खिलाफ उसने नहीं बल्कि उसकी बहन ने केस दर्ज कराया था। दरअसल 3 दिन पहले अमेजन के डिलीवरी ब्वॉय के खिलाफ रेप की कोशिश का केस दर्ज कराए जाने के बाद जब नोएडा पुलिस ने पीड़ित महिला को पूछताछ के लिए बुलाया तो उसने यूटर्न लेते हुए केस वापस लेने की बात की और पुलिस के किसी भी सवाल का जवाब नहीं दिया।
इस मामले को लेकर नोएडा के एसपी विनीत जायसवाल का कहना है कि शिकायत के बाद अब महिला केस वापस लेना चाहती है। नोएडा की रहने वाली पीड़ित महिला ने 3 दिन पहले ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट अमेज़न से कुछ सामान खरीदा था जिसे बाद में उसने लौटाने के लिए रिक्वेस्ट (वापस करने की अर्जी) डाली थी। सोमवार सुबह करीब 11 बजकर 20 मिनट पर अमेजन की तरफ से डिलीवरी ब्वॉय सामान वापस लेने महिला के घर पहुंचा दिया है। महिला का कहना है कि वो डिलीवरी ब्वॉय को 5 पैकेट वापस करना चाहती थी जबकि वो सिर्फ 4 पैकेट लेने को राजी हुआ है। इस बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई और डिलीवरी ब्वॉय भूपेंद्र वहां से वापस चला गया। इसके थोड़ी देर बाद ही भूपेंद्र फिर वापस आया और 5 पैकेट ले जाने को तैयार हो गया जिस पर महिला ने सामान देने से इनकार कर दिया। इसी दौरान महिला के मुताबिक वो हिप्नोटाइज होकर बेहोश हो गई और जब उसे होश आया तो उसने खुद को आरोपी डिलीवरी ब्वॉय के साथ बाथरूम में पाया। महिला के मुताबिक आरोपी डिलीवरी ब्वॉय भूपेश उस वक्त अर्ध नग्न उसके सामने खड़ा था जिसे देखकर वो बुरी तरह डर गई और वहीं पास रखे वाइपर से उसे पीटना शुरू कर दिया। महिला के मुताबिक इसके बाद आरोपी डिलीवरी ब्वॉय मौके से फरार हो गया, जिसके बाद उसने पुलिस से इसकी शिकायत की। पीड़ित महिला के आरोप पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया और आरोपी डिलीवरी ब्वॉय को पूछताछ के लिए थाना बुलाया। पुलिस के बुलावे पर डिलीवरी ब्वॉय थाने पहुंचा और उसने अपना बयान दर्ज करवाया। जिसमें उसने बताया कि महिला की बात नहीं मानने पर वह उसे झूठे केस में फंसा रही है। कोई ठोस सबूत नहीं मिलने के कारण पुलिस ने भी आरोपी डिलीवरी ब्वॉय को गिरफ्तार नहीं किया।
वहीं इस मामले को लेकर अमेजन कंपनी की तरफ से कहा गया था कि आरोपी डिलीवरी ब्वॉय उसका नहीं बल्कि किसी थर्ड पार्टी सर्विस प्रोवाइडर का कर्मचारी था। कंपनी की तरफ से कहा कि वो डिलीवरी सर्विस प्रोवाइडर के खिलाफ कार्रवाई भी करेगा और इस मामले में पुलिस जांच में पूरी मदद भी दी जाएगी।
नोएडा एसपी विनीत जयसवाल का कहना है कि गुरुवार की सुबह पूछताछ के सिलसिले में केस के जांच अधिकारी ने पीड़ित महिला को फोन किया था। पुलिस के मुताबिक पीड़ित महिला ने अपना बयान दर्ज करने के लिए वक्त मांगा है और साथ ही पीड़ित महिला का कहना है कि वो केस वापस लेना चाहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here