Home अहमदाबाद अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस रवाना,इन्टूक और रेल्वे संघर्ष समिति के द्वारा किया गया...

अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस रवाना,इन्टूक और रेल्वे संघर्ष समिति के द्वारा किया गया प्रदर्शन

122
0
Listen to this article

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अहमदाबाद-मुंबई तेजस एक्सप्रेस को अहमदाबाद से हरी झंडी दिखा रवाना किया।

इस समय के कुछ लोगों ने तेजस ट्रेन  जो निजीकरण के लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया इन्टूक और रेल्वे संघर्ष समिति के द्वारा किया गया प्रदर्शन जिसमें रेल्वे पुलिस और अन्य सुरक्षा बल ने विरोध प्रदर्शन करने वाले सभी  लोगों की गिरफ्तार कर लिया

यात्रियों के लिए इस ट्रेन का परिचालन 19 जनवरी से होगा। इस ट्रेन का संचालन रेलवे की खानपान व पर्यटन इकाई आइआरसीटीसी करेगी। गौरतलब है कि इस तरह की पहली ट्रेन पिछले वर्ष लखनऊ से दिल्ली के बीच शुरु की गयी थी। 19 जनवरी से यात्रियों के लिए चलने वाली इस ट्रेन की टिकट बुकिंग सिर्फ ऑनलाइन ही होगी। इसकी बुकिंग आइआरसीटीसी की वेबसाइट, गूगल, आइबीबो, रेल यात्री पेटीएम, फोनपे, मेक माई ट्रिप, आदि एप के माध्यम से किया जा सकता है। रेलवे काउंटर से इसकी टिकट बुकिंग नही होगी।ट्रेन में पांच वर्ष से ज्यादा उम्र वाले बच्चों के लिए कोई रियायत नहीं होगी, इसके लिए पूरा टिकट ही खरीदना होगा और उन्हें सीट भी आवंटित की जाएगी। हालांकि पांच वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों का विवरण देना होगा, क्योंकि उनका न तो किराया लगेगा और न ही उनके लिए सीट आवंटित की जाएगी। अहमदाबाद-मुंबई-अहमदाबाद ट्रेन का संचालन सप्ताह में छह दिन होगा। ट्रेन के मेंटेनेंस के लिए वीरवार का दिन तय किया गया है। वातानुकूलित तेजस ट्रेन में एक्जीक्यूटिव क्लास चेयर कार की दो बोगियां बनायी गयी हैं। इसके अतिरिक्त चेयर कार की आठ बोगियों होंगी जिसमें 78 लोग बैठ सकेंगे।अहमदाबाद से मुंबई के लिए रवाना होने वाली ये ट्रेन सुबह 6 बजकर 4 मिनट पर रवाना होगी और दोपहर 1 बजकर 10 मिनट पर मुंबई पहुंचाएगी। ये ट्रेन नांदेड़, वडोदरा, भरूच, सूरत, वापी और बोरीवली स्टेशनों पर रुकेगी। वापसी में ये ट्रेन मुंबई से अपराह्न 3 बजकर 40 मिनट पर रवाना होगी और रात 9 बजकर 55 मिनट पर पहुंचेगी। ट्रेन में यात्रियों को गुजराती और मराठी व्यंजन परोसे जाएंगे। जिसमें कोम्बी रस्सा, भाकरवड़ी, कोंकणी चिकन, गुजराती कढ़ी और खाकरा शामिल हैं। तेजस के यात्रियों को 25 लाख रुपये का यात्रा बीमा मुफ्त मिलेगा, इसके अलावा यात्रा के दौरान चोरी या डकैती की घटना होने पर एक लाख रुपये के बीमा का प्रावधान किया गया है। अन्य सुविधाओं के अतिरिक्त आइआरसीटीसी ने पहली बार यात्रियों को मुआवजा देने का भी प्रावधान किया है। ट्रेन अगर एक घंटे से अधिक देरी से आयी तो प्रत्येक यात्री को 100 रुपये मुआवजा देगी और दो घंटे से अधिक की देरी पर ये मुआवजा 250 रुपये हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here