Home आप बीती पुलिस को विनय की परेशानी नहीं बल्की 5000 रुपएं दिखाइ दे रहे...

पुलिस को विनय की परेशानी नहीं बल्की 5000 रुपएं दिखाइ दे रहे थे। जिसके कारण पुलिसने उस आवाज को अनदेखा कर दिया।

97
0
Listen to this article

सुरत,एक युवक  की पांडेसरा पुलिस लोकअप में मौत हो गई थी। जबकि यह  मारा-मारी के किस्से में बाप-बेटा विनय यादव को पुलिस उठा लाई थी। होली के रंगारंग त्योहार  में इस परिवार के लोगो का एक सभ्य कानुन के रक्षा करने वाले पुलिस की लापरवाही से खो दिया . जिसमें मारा-मारी के केस में  होली के  समय पुलिस अपने कुछ निजी फायदे के लिए आम जनता को भी परेशान करती है. जिसमें छोटे -छोटे केस लिख कर पुलिस अपने समाज में कार्यशीलता बताती रहती हैं, किसी बड़े व्यकित को कभी नही पकड़े ने वाले ज्यादातर 151  का केस  दर्ज कर रिकोर्ड बना रहेते हैं  इस वजह से  शाम तक पुलिस लोकअप भी लगभग फुल ही हो गया था। विनय का भाइ पुलिस थाने अपने पिता व भाइ को छुडाने पहुंचा तब किसी पुलिसकर्मीने उन्हे छोडने के लिएं रुपए 5000 मांगे थे। लेकिन विनय के भाई कमल के पास इतने रुपएं नहीं होने के कारण अंत में बात 2000 पर पहुंची लेकिन उतने रुपएं भी नहीं होने के कारण विनय को लोकअप में ही रखा गया। कमल ने कहा की उसका भाई विनय जो लाकअप में हे उसे अस्थमा की बिमारी है उसे आप कृपया बाहर ही कस्टडी में रखे। लेकिन पुलिसनें एक न सुनी। सुबह तड़के चार बजे विनय को सांस लेनेमें दिक्कत होने लगी। विनय के पिता भी लाकअप में  थे उन्होने मदद के लिएं पुलिस प्रसाशन से आवाज भी लगाई लेकिन पुलिस को विनय की परेशानी नहीं बल्की 5000 रुपएं दिखाइ दे रहे थे। जिसके कारण पुलिसने उस आवाज को अनदेखा कर दिया।

और उसी कारण वश पिता के गरीब हालत में अपने ही सामने पुत्र को अंतिम श्वास लोकअप में लिया.

पांडेसरा में थाने में एक युवक की दम घुटने से मौत हो गई जिसके बाद से पुलिस की कार्रवाई पर एक बार फिर से सवाल खड़ा हो गया है थाने में ही युवक लगातार दवा और पानी मांगता रहा लेकिन पुलिस वालों ने ना तो उस पर रहम की और ना ही उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए जिसकी वजह से अभी तक अपने भाई और पिता के सामने ही दम तोड़ दिया इस मामले की जानकारी जैसे ही पुलिस वालों को मिली आनन-फानन में उसे सिविल अस्पताल ले जाया गया जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया और मृतक को पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल में रखा गया है जहां पर परिवार वालों ने शव को लेने से इंकार कर दिया है और दोषी पुलिस वालों पर कार्रवाई करने की मांग की जा रही है !

 

क्रांति समय पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए और सुनिये क्रांति समय पर  Hindi News पढ़ने ने के लिए  fm radio,share market news,cricket score क्रांति  समय से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here