Home उत्तर प्रदेश प्रियंका गांधी के प्रवासी मजदूरों के लिए 1000 बसों की पेशकश पर...

प्रियंका गांधी के प्रवासी मजदूरों के लिए 1000 बसों की पेशकश पर उठा सियासी तूफान -योगी के मंत्री बोले- धोखाधड़ी पर जवाब दें सोनिया गांधी

89
0
Listen to this article

लखनऊ (ईएमएस)। कोरोनाकाल में प्रवासी मजदूरों के बैदल पलयन को लेकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी की 1000 बसों की पेशकश को लेकर अब सियासी बवाल जारी है। योगी सरकार ने कांग्रेस पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है। सरकार के प्रवक्ता और मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि इस धोखाधड़ी पर सोनिया गांधी को जवाब देना चाहिए। वहीं, कांग्रेस की ओर से अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार का दावा है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के ऑफिस की तरफ से दी गई लिस्ट में कुछ नंबर मोटरसाइकिल, कार और तिपहिया वाहनों के हैं। कल यूपी सरकार ने प्रियंका की पेशकश मंजूर करते हुए एक चिट्ठी जारी कर बसों की डिटेल मांगी थी। अब योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि मैंने प्रारंभिक जांच की और यह सामने आया है कि जिन बसों के लिए उन्होंने (प्रियंका) विवरण भेजा था, उनमें से कई 2-पहिया, ऑटो और तिपहिया गाड़ियां हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। सोनिया गांधी को जवाब देना चाहिए कि कांग्रेस इस धोखाधड़ी को क्यों कर रही है।
इस बीच अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रियंका गांधी के सचिव संदीप सिंह को खत लिखा और कहा कि आप लखनऊ में बस देने में असमर्थ हैं और नोएडा-गाजियाबाद में बस देना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में आप गाजियाबाद के कौशांबी और साहिबाबाद बस अड्डे पर 500 बसें और नोएडा के एक्पो मार्ट के पास ग्राउंड में 500 बसें उपलब्ध करा दें। इस चिट्ठी का जवाब देते हुए प्रियंका गांधी के निजा सचिव संदीप सिंह ने कहा कि बसों के लिए परमिट लेने का काम चल रहा है। बसें राजस्थान की तरफ से नोएडा बॉर्डर तक पहुंच रही है, इसलिए वक्त लग रहा है। उन्होंने शाम तक यात्रियों की लिस्ट तैयार करने को कहा, ताकि बसें पहुंचने पर फौरन मजदूरों को घरों तक भेजा जा सकें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here