Home तकनीकि वॉट्सऐप के लिए चुनौती साबित हो सकता है मेसेज ऐप -गूगल का...

वॉट्सऐप के लिए चुनौती साबित हो सकता है मेसेज ऐप -गूगल का मेसेज ऐप पेश कर सकता है चुनौती

81
0
Listen to this article

नई दिल्ली (एजेंसी)। पापुलर सोशल मीडिया ऐप वॉट्सऐप के लिए गुगल का मैसेज ऐप चुनौती साबित हो सकती है। इस मेसेजिंग ऐप में गूगल कुछ ऐसे फीचर्स देने जा रहा है, जो वॉट्सऐप को चुनौती दे सकते हैं। यह ऐप कई ऐंड्रॉयड डिवाइस में पहले से इंस्टॉल दिया जा रहा है। इसका सबसे बड़ा फीचर है रिच कम्यूनिकेशन सर्विस (आरसीएस) सपॉर्ट का। रिच कम्यूनिकेशन सपॉर्ट के जरिए इस मेसेजिंग ऐप को मल्टीमीडिया भेजने की सुविधा मिल जाती है। यानी मेसेजिंग ऐप के जरिए ही यूजर्स हाई-रेजॉलूशन फोटोज, विडियोज, जीआईएफएस, लंबे मेसेज और फाइल भेज सकते हैं। बता दें कि गुगल मैसेजेस अब तक 1 अरब से ज्यादा बार डाउनलोड हो चुका है। इसमें आपको क्लीन और आसान इंटरफेस मिलता है। यह कंपनी के उन शुरुआती ऐप्स में से एक है जिन्हें डार्क मोड सपॉर्ट मिला था। गूगल मेसेज में आरसीएस सपॉर्ट फ्रांस, मैक्सिको और ब्रिटेन के अलावा भारत, इटली और सिंगापुर के यूजर्स को भी मिल रहा है। आरसीएस का फीचर फिलहाल लिमिलेड ऑपरेटर्स को सपॉर्ट करता है। गूगल धीरे-धीरे ऑपरेटर्स के साथ साझेदारी बढ़ाती जा रही है। इस फीचर के जरिए आप वाईफाई या डेटा नेटवर्क के जरिए मेसेज भेज पाते हैं। साथ ही यह भी देख पाते हैं कि सामने वाला कब टाइप कर रहा है और कब आपका मेसेज देखा गया। गूगल इस ऐप के लिए नया इमोजी रिएक्शन फीचर टेस्ट कर रहा है। इस फीचर के आ जाने के बाद आप मेसेज पर लॉन्ग प्रेस करके अपनी पसंद का रिएक्शन चुन सकते हैं। इसमें आपको थम्स अप, थम्स डाउन, ऐंगर, लाफ्टर जैसे इमोजी मिलते हैं। रिपोर्ट की मानें तो रिच कम्यूनिकेशन सपॉर्ट के लिए इसमें एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन का फीचर भी मिलने जा रहा है। इस फीचर के आ जाने के बाद मेसेजेस को सेंडर और रिसीवर के अलावा कोई बाहर का व्यक्ति नहीं पढ़ जाएगा। ठीक इसी तरह का फीचर वॉट्सऐप में भी मिलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here