Home दुनिया महिला, बच्ची की हत्या के बाद बलूचिस्तान में उग्र प्रदर्शन, मुंह छिपाकर...

महिला, बच्ची की हत्या के बाद बलूचिस्तान में उग्र प्रदर्शन, मुंह छिपाकर भागी पाक सेना

91
0
Listen to this article

इस्लामाबाद (एजेंसी)। पाकिस्तान के बलूचिस्तान प्रांत में बलूच आंदोलन ने उग्र रूप ले लिया है। कोरोना संक्रमण और हर दिन बढ़ते कर्ज और बिगड़ती अर्थव्यवस्था के चलते पाकिस्तान पहले ही घोर संकटों में घिरा हुआ है। ऐसे में बलूचिस्तान में एक महिला और उसकी 4 साल की बच्ची की हत्या के बाद लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है। गुरुवार को बड़ी संख्या में बलूचों ने प्रदर्शन के दौरान बारबचा इलाके में पाकिस्तान की सेना पर पत्थर भी फेंके। देर शाम ये प्रदर्शन काफी उग्र हो गया और मिली जानकारी के मुताबिक लोगों ने सेना की एक चेक पोस्ट को आग के हवाले कर दिया। ज्ञात हो कि बलूचिस्तान में इस तरह के प्रदर्शन बीते 15 दिनों से जारी हैं। करीब दो हफ्ते पहले बलूचिस्तान के तुरबत शहर में मलिकनाज नाम की एक महिला और उसकी चार साल की बेटी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि बलूचिस्तान की सरकार चला रही बलूचिस्तान आवामी पार्टी (बीएपी) के के लोगों ने ही इस हत्या को दिनदहाड़े अंजाम दिया है। आरोप है कि न सिर्फ पुलिस बल्कि सेना और इमरान खान सरकार भी आरोपियों को बचा रही है।
बलूचिस्तान में हुए इस हिंसक प्रदर्शन के कई वीडियो पाकिस्तानी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इन वीडियो में हजारों प्रदर्शनकारी पाकिस्तानी सैनिकों पर पत्थरबाजी करते नजर आ रहे हैं। वीडियो को बलूचिस्तान पोस्ट ने शेयर किया है और इसमें पाकिस्तानी सेना के टैंक, सेना की पोस्ट और कई जवान भी नज़र आ रहे हैं। वीडियो में जो पोस्ट नज़र आ रही है वहां पत्थरबाजी होने के बाद सौनिक भाग गए थे और लोगों ने उसे आग के हवाले कर दिया। गौरतलब है कि पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (क्यू) के कुछ सदस्यों ने मिलकर 2018 में बीएपी बनाई थी। 2018 में बलूचिस्तान में हुए चुनावों में बीएपी सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। इमरान खान सरकार में भी बीएपी शामिल है। सूत्रों के हवाले से पता चला है कि पाकिस्तान की सेना ग्राउंड जीरो क्लियरेंस ऑपरेशन चला रही है। इस ऑपरेशन के तहत बलूचिस्तान की आजादी की मांग करने वाली बलूच लिबरेशन आर्मी और बलूच लिबरेशन फ्रंट को खत्म किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों में बलूच और पख्तून नेताओं की हत्या के कई मामले सामने आए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here