Home आप बीती सुरत में परप्रांतियों लोगों को कब्जा रसीद की फ़ाइल बना कर सरकारी...

सुरत में परप्रांतियों लोगों को कब्जा रसीद की फ़ाइल बना कर सरकारी जगह बेचने का करोबार जरों पर ?,मनपा की महेरबानी से चल रहा कारोबार ?

91
0
Listen to this article

सूरत,सूरत एक ऐसा खूबसूरत शहर हैं जो कुछ समय तक खूबसूरत था लेकिन आज के समय में लुट,हत्या , मारामारी,जमीनों पर अवैध रूप से कब्जा करना , इस तरह की कार्यकरने करने वाले पूरा गिरोह जो सुरत मनपा और कुछ राजनेताओं के महेरबानी से चल रहे हैं, एक आम आदमी के लिए कई मुश्किलें खड़ी कर देता हैं,सूरत के कुछ दलाल हैं जो अपनी ताकत और पैसा के दम पर सरकारी जमीनों पर कब्जा कर के प्लोट  बना कर वेचने का करोबार चला रहे हैं, जिसमें सूरत के सूरतनगर पालिका के कुछ अधिकारियों की  महेरबानी से यह कार्यवाही हो रहा हैं, अभी कुछ समय पहले ही पाडेसरा के मणीनगर में खड़ीकिनारे निकल रही रोड पर कुछ आधिकारियों की महेरबानी से कुछ मकान बने थे जो तोड़े गई, लेकिन तोड़ने की कार्यवाही कम किया गया, जब मकान बना कर लोग रहने लगे इसके पहले सुरत मनपा ने कोई कार्यवाही क्यों नही किया कारण यह भी लोगों के पास मालूम हुआ के अधिकारियों ने इस जगह पर बांधकाम करवाने के लिए कुछ  गिफ़्ट(रिश्वत) दिया गया. की जब मकान बन जायेगा उसके बाद ही कुछ समय बाद तोड़ने की कार्यवाही किया जायेगा. अभी भी कुछ जगह इस तरह से हैं जहाँ पर मकान रिजर्वेशन में होने के बाद भी बांधकाम करने की मोखिक परमीशन दिया गया हैं लेकिन तोड़ने की कार्यवाही नही करेगा इस बात का लिए काफी रकम मनपा के अधिकारियों ने लिया हैं,जिस जगह पर रकम न मिला क्या उसी जगह पर डिमोलिशन जल्दी किया जाता हैं ? , मनपा के अधिकारियों साथ  जमीन के दलालों का भी अहम रोड इस जमीन माफिया  में हैं, शासन-प्रशासन को सारी जानकारी होने के बाद भी कोई भी कार्यवाही न करने को मजबूर हैं यह अधिकारी आखिर क्यों? यह रिश्वतखोरी का अहम भाग है या जमीन माफियों के साथ आधिकारियों की महेरबानी का नतीजा ? यह तो समय का कालचक्र ही बतायागा.

हर तरफ से परेशान होती हैं यह जनता जो रोजीरोटी के साथ अपना खुद का एक मकान बनाना चाहिती हैं यह जनता ?

अधिकारियों के उसके पगार के साथ इस तरह अवैध वसूली करने का एक जरिया बन गया हैं?

पुलिस स्टेशन में अवैध कब्जों के कितने फरियाद करने पर भी न्याय के लिए भटक रही हैं जनता. ?

सूरत के मनपा में इस तरह का सबसे बड़ा करोबार उधना ज़ोन में ही क्यों हैं आखिर यह भी एक कारण हैं यहाँ की जाग्रत नही यह जनता क्योकि मजदूरों की वस्ती हैं यहाँ पर सारी जनता. ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here