Home दिल्ली फोन टैपिंग मामले पर एक्शन में गृह मंत्रालय

फोन टैपिंग मामले पर एक्शन में गृह मंत्रालय

86
0
Listen to this article

नई दिल्ली (एजेसी)। राजस्थान सरकार को गिराने की कथित साजिश से जुड़े दो ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद लगे फोन टैपिंग के आरोपों के संबंध में केंद्र सरकार ने राज्य के मुख्य सचिव से रिपोर्ट मांगी। एक अधिकारी ने बताया कि गृह मंत्रालय की ओर से भेजे गए पत्र में राजस्थान के मुख्य सचिव से फोन टैपिंग के आरोपों के बारे में रिपोर्ट भेजने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि दो ऑडियो क्लिप सामने आने के बाद मुख्य सचिव से घटनाक्रम की जानकारी मांगी गई है। राजस्थान पुलिस के भ्रष्टाचार निरोधी ब्यूरो एसीबी ने दोनो ऑडियो क्लिप के मामले में भ्रष्टाचार निरोधी कानून के तहत मामला दर्ज किया है। इन दोनों टेप में कथित रूप से गहलोत सरकार को गिराने के लिए किए गए षड्यंत्र से जुड़ी बातचीत रिकॉर्ड है। भाजपा ने इन टेपों की जांच सीबीआई से कराने की मांग करते हुए आरोप लगाया कि राजस्थान सरकार लोगों के फोन टैप करवा रही है। राजस्थान एसीबी के महानिदेशक आलोक त्रिपाठी ने कहा कि एजेंसी ने कांग्रेस के मुख्य सचेतक महेश जोशी की शिकायत के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की है। प्राथमिकी में बागी विधायक भंवरलाल शर्मा की गजेन्द्र सिंह और एक अन्य व्यक्ति संजय जैन के साथ बातचीत का विस्तृत ब्योरा है। कांग्रेस का दावा है कि ऑडियो टेप में जिस गजेन्द्र सिंह का नाम आ रहा है वह केन्द्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह ही हैं।पिछले 24 घंटे के दौरान ऑडियो क्लिप मुख्य केन्द्र में है, जिसको लेकर अशोक गहलोत धड़े की तरफ से यह दावा किया जा रहा है कि कुछ विधायक गहलोत सरकार को गिराने के लिए सचिन पायलट का समर्थन कर रहे थे। राजस्थान एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) के महानिदेशक आलोक त्रिपाठी का हवाला दिया है, जिसमें उन्होंने कहा है एफआईआर प्रिवेन्शन ऑफ करप्शन एक्ट की धारा 7 और 7ए केस तहत दर्ज किया गया है। इन ऑडियो क्लिप्स को वैरिफिकेशन के लिए फॉरेंसिक साइंस लेबेरोट्री भेजी जाएंगी। जब रिपोर्ट्स आएगी और इसका सत्यापन हो जाएगा, उसके बाद आरोपित लोगों का वाइस टेस्ट कराएंगे। एंटी करप्शन ब्यूरो के सीनियर अधिकारी ने बताया कि शुक्रवार को चीफ व्हीप महेश जोशी ने तीन नाम- भंवर लाल, संजय जैन और गजेन्द्र सिंह की ऑडियो टेप्स एससीबी को सौंपी, जिसमें उन्होंने विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिश करने का आरोप लगाया। हरियाणा के मानेसर में शुक्रवार को होटल में पहुंचे राजस्थान पुलिस की स्पेशल ऑपरेशंस ग्रुप (एसओजी) की सचिन पायलट और उनके समर्थक 18 विधायकों से पूछताछ में नाकाम रहे क्योंकि परिसर में जब हरियाणा पुलिस की तरफ से जाने की इजाजत दी गई तक तक वे लोग वहां से जा चुके थे। एसओजी की तरफ से सचिन पायलट कैम्प के कुछ विधायकों से आवाज के सैंपल लेने की कोशिश की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here