Home अहमदाबाद आईटीआई पास सूरत का शख्स बनाता था नकली टोसिलिजुमैब इंजेक्शन

आईटीआई पास सूरत का शख्स बनाता था नकली टोसिलिजुमैब इंजेक्शन

240
0

अहमदाबाद,(एजेसी) एक ओर कोरोना संकट के दौर में लोग अपनी और परिवार की जान बचाने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं, दूसरी ओर ऐसे भी लोग हैं जो अपनी जेबें भर रहे हैं| कुछ समय पहले राज्य के खाद्य एवं औषध विभाग ने टोसिलिजुमेब के गोरखधंधे का पर्दाफाश किया था| अब इस इंजेक्शन को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है| सूरत में रहनेवाले सोहेल इस्माइल नामक शख्स अपने घर में नकली टोसिलिजुमेब इंजेक्शन बनाता था| खाद्य एवं औषध विभाग के आयुक्त डॉ. एचजी कोशिया के सूरत से टोसिलिजुमेब इंजेक्शन का जो जखीरा पकड़ा गया है, वह नकली है| आईटीआई पास सोहेल इस्माइल अपने घर में सामग्री लाकर स्टीरोइड की मदद से टोसिलिजुमेब इंजेक्शन बनाता था| सूरत में सोहेल इस्माअइल ताई के घर पर छापा मारकर एक फिलींग मशीन, सिलिंग मशीन, कोडिंग मशीन, नकली द्रव्यु पदार्थ, पैकिंग मैटेरियल व मिनी मशीन के साथ करीब 8 लाख की कीमत का माल व मशीनरी बरामद की है। कोसिया ने बताया कि नकली इंजेक्सन स्टीरोइड की मात्रा अधिक पाई गई| नकली इंजेक्शन के कंटेंट के बारे में स्वीट्जरलैंड की रोश कंपनी जांच करेगी| कंपनी ने इंजेक्शन के लिए जापान में प्लांट लगाया गया है| उत्पादन के बाद कंपनी यह इंजेक्शन स्वीट्जरलैंड भेजती है और भारत की सिप्ला कंपनी टोसिलिजुमेब इंजेक्शन स्वीट्जरलैंड से खरीदती है| उन्होंने बताया कि यह इंजेक्शन भारत में 30 से 40 हजार रुपए में मिलता है| यह इंजेक्शन मोनोक्रोनल एन्टी बॉडी होता है और मरीज के वजन के मुताबिक उसे दिया जाता है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here