Home उत्तर प्रदेश पोल के तार के करंट से युवक की मौत,मचा कोहराम

पोल के तार के करंट से युवक की मौत,मचा कोहराम

102
0
पोल के तार के करंट से युवक की मौत,मचा कोहराम
Listen to this article

मैनपुरी (एजेंसी) | बिजली विभाग की लापरवाही कहें या कुछ और। बिजली करंट की चपेट में आकर एक और युवक की जान चली गई। इस बार कुर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम नगला बाग लेखराजपुर में हादसा हुआ। गांव में बीएससी के छात्र के घर के बाहर लगे पोल में करंट आ रहा था।

युवक घर से बाहर निकला और पोल को सपोर्ट देने के लिए लगे तार में आ रहे करंट की चपेट में आ गया। घटनास्थल पर ही उसकी मौत हुई तो परिजनों में कोहराम मच गया। खबर पाकर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

देर रात कुर्रा थाना क्षेत्र के ग्राम नगला बाग निवासी 22 वर्षीय बॉबी यादव पुत्र औसान सिंह यादव घर से बाहर किसी काम से जा रहा था। घर के सामने ही एक बिजली का पोल लगा हुआ है। इस पोल को सपोर्ट देने के लिए एक तार भी पास में लगाया गया था। बॉबी किसी तरह से इस तार में छू गया। तार में आ रहे करंट की चपेट में आकर वह गिर गया। जानकारी पाकर परिवारीजन दौड़ पड़े।

परिजन उसे अस्पताल लेकर आए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक तीन भाई था और बीएससी का स्टूडेंट था। युवक की मौत की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। पिछले तीन दिनों में बिजली के तारों की चपेट में आकर दूसरी और दो माह में सातवीं मौत है। पूरा गांव घटना से शोक में डूब गया है।

*विभाग की लापरवाही से गई युवक की जान*

मैनपुरी। परिजनों और ग्रामीणों का कहना है कि बिजली विभाग की लापरवाही से युवक की जान चली गई। जितने भी पोल लगे हुए हैं कहीं-कहीं पोल के सपोर्ट के लिए जमीन में तार भी लगाया गया है। लेकिन उसमें करंट नहीं आना चाहिए। लेकिन विभाग की लापरवाही के चलते बारिश के दिनों में अक्सर इन तारों में करंट आता है। जानवरों की भी इन तारों से छूकर मौत हो जाती है। पूरे जिले में गांव-गांव बिजली की जर्जर लाइनें और लटकते तार लोगों की जान पर संकट बन चुके हैं। लेकिन विभाग खामोश है।

*भाकियू ने डीएम से की तार बदलवाने की मांग*

भाकियू के प्रतिनिधि मंडल ने जिलाध्यक्ष तिलक सिंह राजपूत के नेतृत्व में डीएम महेंद्र बहादुर सिंह से मुलाकात की और ग्रामीण क्षेत्रों में लटक रहे पुराने बिजली के तारों को बदलवाने और पीबीसी केबिल बिछवाने की मांग की ताकि इस तरह की घटनाओं को रोका जा सके।

प्रतिनिधि मंडल ने किसानों को सिंचाई के लिए बिजली, यूरिया की कालाबाजारी रोकने, समर्थन मूल्य के हिसाब से मक्का की खरीद कराने और कोरोना के कारण बंद चल रहे स्कूलों की फीस माफ कराने की मांग की। इस दौरान राजा ठाकुर, नरेंद्र यादव, राजेश राजपूत, अनुज यादव आदि भाकियू नेता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here