Home क्राइम दुष्कर्म की शिकार नाबालिग गर्भवती

दुष्कर्म की शिकार नाबालिग गर्भवती

0
दुष्कर्म की शिकार नाबालिग गर्भवती

जबलपुर(एजेंसी)। तिलवारा थाना क्षेत्र में एक नाबालिग लड़की से दुष्कर्म करने के बाद उसे गर्भवती बनाने के आरोपी को जिला न्यायालय ने जमानत देने से इंकार कर दिया। अभियोजन पक्ष के मुताबिक पीड़ित नाबालिग कक्षा १०वीं में पढ़ती है। उसके घर के बाजू में अभियुक्त देवराम विश्वकर्मा अपने परिवार के साथ रहता है। देवराम विश्वकर्मा ने करीब २ वर्ष पहले उससे कहा कि वह उससे प्यार करता है और दोस्ती करना चाहता है।

उसके बाद दोनों के बीच बातचीत होने लगी। वह प्रतिदिन करीब ५ माह पहले से सुबह आईटी पार्क घूमने जाती है। २६ अक्टूबर २०२० को सुबह ५.३० बजे आईटी पार्क गई थी और वहां घूम रही थी तभी अचानक उसे अभियुक्त देवराम विश्वकर्मा मिला और उससे बोला कि थोड़ा और आगे घूमने चलो तो वह उसके साथ चली गई। तब अभियुक्त देवराम विश्वकर्मा ने आगे ले जाकर जंगल में उसके साथ जबरदस्ती बलात्कार किया।

जब पीड॰िता ने अभियुक्त को बताया कि उसने उसके साथ जबरदस्ती बुरा काम किया है। इस घटना के बाद लड़की गर्भवती हो गई। लड़की ने यह बात देवराम विश्वकर्मा को बताई तो उसने कहा कि ०५ दिसबंर २०२० को सुबह पार्क में मिलना वह दवाई लाकर दे देगा। जब वह आईटी पार्क पहुंची तो अभियुक्त ने फिर से उसके साथ जबरदस्ती दुराचार किया और दवाई देकर बोला यह दवाई खा लेना। दवाई खाने से पीड़िता की तबीयत और खराब हो गई।

तब पीड़िता ने अपनी मम्मी को सारी बात बताई तब उसकी मम्मी उसे मेडिकल कॉलेज इलाज के लिए लेकर गई। जहां उसका गर्भपात हुआ। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा ३७६(२)(जे),३७६(२) (एन), ३७६(३), ३१२ एवं ३ध्४ पॉस्को का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। अभियुक्त देवराम विश्वकर्मा को गिरफ्तार कर विशेष न्यायाधीश (पाक्सो) श्रीमती संगीता यादव के समक्ष पेश किया गया।

शासन की ओर से प्रभारी उपसंचालक शेख वसीम के निर्देशन में अति. जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्रीमती स्मृतिलता बरकड़े के द्वारा शासन का पक्ष रखते हुये जमानत आवेदन का विरोध करते हुये बताया कि यदि आरोपी को जमानत का लाभ दिया जाता हैं तो आरोपी साक्ष््य को प्रभावित कर सकता हैं जिससे समाज में न्याय के प्रति विपरीत संदेश पहुॅचेगा। अभियोजन द्वारा दिए गए तर्कोे से सहमत होते हुए न्यायालय द्वारा आरोपी का जमानत आवेदन निरस्त कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here