Home राज्य गुजरात किसान सूर्योदय योजना के दूसरे चरण में 30 जिलों के 2409 गांव के किसानों को

किसान सूर्योदय योजना के दूसरे चरण में 30 जिलों के 2409 गांव के किसानों को

0
किसान सूर्योदय योजना के दूसरे चरण में 30 जिलों के 2409 गांव के किसानों को

गांधीनगर(एजेंसी)| ऊर्जा मंत्री सौरभभाई पटेल ने कहा कि किसानों के लिए महत्वाकांक्षी किसान सूर्योदय योजना के दूसरे चरण का शुभारंभ मुख्यमंत्री श्री विजय रूपाणी 3 जनवरी को सोमनाथ जिले के ऊना में, 5 जनवरी को अरवल्ली जिले के बायड में, 7 जनवरी को नर्मदा जिले के तिलकवाड़ा, 9 जनवरी, 2021 को महीसागर जिले के लुनावाड़ा में करेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों के हित को समर्पित राज्य सरकार ने अनेक निर्णय किए हैं। जिसके अंतर्गत अब किसानों को दिन के दौरान बिजली आपूर्ति करने की योजना साकार हो रही है।

पटेल ने कहा कि राज्य सरकार की कृषि कार्य के लिए दिन के दौरान बिजली देने की 3500 करोड़ रुपए की किसान सूर्योदय योजना का वर्चुअल शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गत 24 अक्टूबर को जूनागढ़ में किया था। जिसके अंतर्गत पहले चरण में दाहोद, जूनागढ़ और गिर सोमनाथ जिले के 1055 गांवों को शामिल कर लगभग 1 लाख किसानों को योजना का लाभ पहुंचाया गया था। उन्होंने कहा कि इस योजना के तहत क्रमशः राज्य के सभी किसानों का समावेश कर दिन के दौरान बिजली मुहैया कराने की हमारी योजना है।

योजना के दूसरे चरण में राज्य के 30 जिलों की 150 तहसीलों के 2409 गांवों के करीब 1.90 लाख किसानों का समावेश करते हुए उन्हें दिन के दौरान बिजली आपूर्ति की जाएगी। इसमें उत्तर गुजरात वीज कंपनी के 6 जिलों, पश्चिम गुजरात वीज कंपनी के 12, दक्षिण गुजरात वीज कंपनी के 6 और मध्य गुजरात वीज कंपनी के अंतर्गत आने वाले 6 जिलों को शामिल किया जाएगा। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि 883 फीडरों के जरिए किसानों को दिन के दौरान बिजली मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए 375 मेगावाट बिजली की जरूरत होगी।

उन्होंने कहा कि फिलहाल राज्य में 153 ग्रुप हैं, जिसमें से आधे ग्रुप को दिन में और आधे को रात में बिजली उपलब्ध कराई जाती है। अब, इस योजना के तहत सुबह 5.00 बजे से रात के 9.00 बजे के दौरान बिजली आपूर्ति की जाएगी। पटेल ने कहा कि सोलर पावर केवल दिन के दौरान ही उपलब्ध होता है। आने वाले समय में सौर ऊर्जा की उत्पादन क्षमता बढ़ने से दिन में बिजली की उपलब्धता भी बढ़ेगी। राज्य में वर्तमान में 17.25 लाख से अधिक कृषि बिजली उपभोक्ता हैं, जिन्हें 153 समूहों में बांटकर 8400 से अधिक 11 केवी के कृषि फीडरों के माध्यम से बिजली आपूर्ति की जा रही है।

इन समूहों को 24 घंटे के दौरान 8-8 घंटे की तीन पाली के जरिए थ्री-फेज बिजली आपूर्ति और 24 घंटे सिंगल फेज बिजली की आपूर्ति की जा रही है। इन समूहों का रोटेशन इस तरह किया जाता है कि हरेक समूह को एक सप्ताह के लिए दिन के दौरान उसके बाद के सप्ताह में रात्रि के दौरान और फिर बाकी के दो सप्ताह के लिए आंशिक रूप से दिन और आंशिक रात के दौरान बिजली आपूर्ति की जाती है। रात के दौरान खेतों को पानी देने में पड़ने वाली तकलीफों के चलते किसानों की ओर से लंबे से समय से दिन के दौरान बिजली आपूर्ति की मांग की जा रही थी, जो अब पूरी होने जा रही है।

ऊर्जा मंत्री सौरभभाई पटेल ने कहा कि गुजरात सरकार ने नवीन दृष्टिकोण अपनाते हुए किसानों की मुश्किलों को दूर करने के लिए दिन के दौरान बिजली आपूर्ति की किसान सूर्योदय योजना क्रियान्वित की है। किसानों को दिन के दौरान बिजली प्रदान करने के इस चुनौतीपूर्ण कार्य को तीन वर्ष में पूरा करने का राज्य सरकार का संकल्प है। इसके लिए आवश्यक ढांचागत नेटवर्क स्थापित करने के लिए 2020-21 के बजट में आगामी तीन वर्ष के लिए 3500 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। पटेल ने कहा कि किसानों को दिन के दौरान कृषि बिजली आपूर्ति के लिए आगामी समय में 520 करोड़ रुपए की लागत से 11 नए 220 केवी सब स्टेशन और 2444.94 करोड़ रुपए के खर्च से 254 नई 220, 132 और 66 केवी लाइन बिछाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here