Home गुजरात गुजरात कोरोना केस: जेट गति से गुजरात में कोरोना वायरस, हर घंटे...

गुजरात कोरोना केस: जेट गति से गुजरात में कोरोना वायरस, हर घंटे 98 नए मामले आ रहे हैं

322
0

[ad_1]

कोरोना वायरस, जो गुजरात में देखभाल फैला रहा है, अब पहली बार 200 के स्तर को पार कर गया है। पिछले 3 घंटों में, राज्य में कोरोना के 2,20 नए मामले सामने आए हैं, जबकि अहमदाबाद-सूरत से 3, खेड़ा-महिसागर-वडोदरा से 1-1, कोरोना से कुल 6 लोगों की मौत हुई है। इस स्थिति में, राज्य में हर 1 घंटे में 4 नए मामले सामने आते हैं। वर्तमान में राज्य में 18,610 सक्रिय मामले हैं जबकि 12 मरीज वेंटिलेटर पर हैं। राज्य में कुल मामलों की संख्या अब 4,09,8 है जबकि कुल मृत्यु का आंकड़ा 2,813 है। इनमें से अकेले मार्च में 4,308 मामले सामने आए जबकि 108 मौतें हुईं।

राज्य में चिंताजनक बात यह है कि सक्रिय मामलों की संख्या 12 हजार को पार कर गई है। वर्तमान में राज्य में सक्रिय मामले 12610 तक पहुंच गए हैं। जिनमें से 152 लोग वेंटिलेटर पर हैं और 12458 लोग स्थिर हैं। राज्य में कोरोना से वसूली दर 94.43 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

कोरोनाअब तक कितनी मौतें हुई हैं?

कल, अहमदाबाद कॉर्पोरेशन (एएमसी) में 3, सूरत कॉर्पोरेशन (एसएमसी) में 3, खेड़ा में 1, महिसागर में 1 और वनोड्रा कॉर्पोरेशन में 1 की मौत हुई। राज्य में कोरोना से अब तक कुल 4519 लोगों की मौत हो चुकी है।

कहां और कितने मामले सामने आए?

अहमदाबाद कॉर्पोरेशन में 611, सूरत कॉर्पोरेशन में 602, वडोदरा कॉर्पोरेशन में 290, राजकोट कॉर्पोरेशन में 172, सूरत में 142, वड़ोदरा में 51, राजकोट में 51, 36 में भावनगर कॉर्पोरेशन -34, नर्मदा 19, जामनगर कॉर्पोरेशन 31, गांधीनगर कॉर्पोरेशन 25, मेहसाणा 22, गांधीनगर 22, गांधीनगर कॉर्पोरेशन 25, महिसागर 14, पाटन -26, जामनगर -30, अमरेली और आनंद 18-18 मामले सामने आए।

कितने लोगों की छुट्टी हुई?

राज्य में कल छुट्टी वाले मरीजों की संख्या 2004 है। गुजरात में रोगियों की कुल संख्या 2,90,569 है।

कितने लोगों ने टीका लगवाया

कुल 49,45,649 लोगों को अब तक टीका की पहली खुराक दी गई है और 6,65,395 लोगों को टीकाकरण कार्यक्रम के तहत कोरोना वैक्सीन की दूसरी खुराक दी गई है। इस प्रकार कुल 56,11,044 लोगों को टीका लगाया गया है। 60 से अधिक आयु के कुल 1,72,460 लोगों के साथ-साथ गंभीर बीमारी वाले 45 से 60 वर्ष के लोगों को कल टीका लगाया गया था। अब तक राज्य में एक भी व्यक्ति इस टीके के कारण गंभीर दुष्प्रभाव नहीं पाया गया है।



[ad_2]

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here