Home तकनीकि टाइपिंग आसान बनाने का नुस्ख़ा वह थी स्मार्टफ़ोन पर

टाइपिंग आसान बनाने का नुस्ख़ा वह थी स्मार्टफ़ोन पर

37
0
Listen to this article

160202113320_use_of_smartphone_in_car_624x351_thinkstock
मोबाईल अब सभी के हाथ में होता हें लेकिन किसी को मैसेजिंग करना हो तो आप को लिखना पडता हें जो यह तकलीफ अब दूर हो गई, जो आप के लिए टाइपिंग आसान कर देता है और आपकी गलतियों को सुधार देता है या सुधारने में मदद करता है. गूगल प्ले स्टोर पर आपको कई तरह के कीबोर्ड मिल जाएंगे जिनके फ़ीचर अलग अलग हैं.
इन सभी कीबोर्ड में ‘स्वाइप’ नाम का ऐप काफ़ी पसंद किया जाता है, क्योंकि उसमें आपके टाइपिंग की रफ़्तार काफ़ी तेज़ हो जाती है. इसे इस्तेमाल करते समय आपको एक अक्षर से दूसरे पर जाने के लिए अपनी उंगली नहीं उठानी पड़ती है.लेकिन अगर आप गूगल कीबोर्ड इस्तेमाल करते हैं तो उसमें एक ख़ासियत मिलेगी, जो आपको किसी और कीबोर्ड में नहीं मिल सकती है. आप जो शब्द अपने स्मार्टफ़ोन पर टाइप करते हैं उसे ये कीबोर्ड सीख लेता है और कुछ दिन बाद आप वो शब्द जब टाइप करेंगे तो वो उसे सही मानने लगेगा.ये शब्द आपके स्मार्टफ़ोन की पर्सनल डिस्क्शनरी का हिस्सा बन जाते हैं और आपके लिए परेशानी दूर हो जाती है. बाद में जब भी आप नया एंड्राइड डिवाइस खरीदेंगे तो उस गूगल अकाउंट का इस्तेमाल करके, नए डिवाइस पर लॉग इन कर लीजिए और आपका डिक्शनरी आपके साथ नए डिवाइस पर भी मिलेगा.
अपने एंड्राइड डिवाइस पर डिक्शनरी को इनेबल करने के लिए आपको अपने गूगल अकाउंट से लॉग इन किया होना चाहिए. उसके बाद ‘सेटिंग’ में जाइये और ‘लैंग्वेज एंड इनपुट’ के विकल्प को चुन लीजिए और फिर ‘गूगल कीबोर्ड’ चुन लीजिए. अगर आप एक से ज़्यादा जीमेल अकाउंट अपने स्मार्टफ़ोन पर इस्तेमाल करते हैं तो आपको चुनना होगा कि किस अकाउंट से अपने कीबोर्ड को लिंक करना चाहते हैं.
जब भी आप नया एंड्राइड डिवाइस खरीदेंगे तो नए डिवाइस पर लॉग इन करते ही आपको कीबोर्ड पर ज़्यादा समय नहीं बिताना होगा, क्योंकि आपकी डिक्शनरी अब नए स्मार्टफ़ोन पर भी काम करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here