Home क्रांति समय अन्वेषण टीम की रिपोट सुरत महानगर पालिका के अधिकारी कर्मचारियों के बचाव में

सुरत महानगर पालिका के अधिकारी कर्मचारियों के बचाव में

38
0
Listen to this article

SMC
सुरत महानगर पलिअका के हद में होने बाले सारे अवैध बिल्डिग जो अधिकारी के कार्यक्षेत्र में आता हें उसके लिये आधिकारी नही बल्कि जो बनाते हें वह जबाबदेही हें इस तरह का बयान सुरत महानगर पलिका के कमिश्नर श्री मिलिन्द तोरवऐ ने कहा की इस में आधिकारी की कोई गलती नही हें इससे पहले के भुतपर्व मनपा के कमिश्नर श्री ऐम के दास अधिकारी के पूर्ण जबाबदारी सब को सोंपी थी की जिस अधिकारी के कार्य क्षेत्र में अवैध कामकाज होते पाया जायेगा उसे के उपर कार्यवाही की जाती थी लेकिन इस तरह के बयान से अधि़कारी ने कमर्चारीयों को खुले रूप से अवैध कामकाज करने का खुला रास्ता बता रहे हें,
मनपा के कमिश्नर श्री ने यह बयान दिया के जो कोई नगरसेवक फरियाद करगे तो ही पालिका इस तरह के अवैध बिल्डिग पर पालिका कार्यवाही करेगी, कतारगाम के अवैध बाधकाम में बिजिलन्स से जाँच रखने वाले कमिश्नर श्री ने यह जानकारी दी,
जबकि उधना , पांडेसरा के विस्तार में उधना जोन में अवैध बाधकाम ही नही कुछ नगरसेवक ही पालिका में अपने रखे आदमी से सारी अवैध कामकाज करते हें जिसमे अधिकारी और कर्मचारियों का और कुछ नगर सेवक का जमीन पर कब्जा करना , मार्जिन की जगह पर बिल्डिग बनाकर बेच देना ,और इन सब में कर्मचारी भी नगर सेवक साथ देते हें जिसमे आधिकरी , कर्मचारी, और नगर सेवक का भी हिस्सा रहता हें, अभी कुछ दिन पहले ही पांडेसरा के तुलसीदाम सोसायटी में एक गली में डिमोलिशन किया गया था, लेकिन बाकी सारी गली में अवैध कव्जा होने के बावजूद कोई कार्यवाही नही की गई, जिसमे एक नगर सेवक का हाथ था इसा सूत्रों से मिली जानकरी हें की कुछ नगर सेवक ही सारे अवैध कामकाज करते हें यह सारे आम बात हें,
जनता परेशान, नेता पर अधिकारी का मेहरबान ,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here