Home जम्मू-काश्मीर PoK पर मोदी मेहरबान, देंगे 2 हजार करोड़?

PoK पर मोदी मेहरबान, देंगे 2 हजार करोड़?

33
0
Listen to this article

नई दिल्ली.पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से विस्थापित होकर आए लोगों के लिए केंद्र सरकार जल्द ही दो हजार करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा कर सकती है। जम्मू कश्मीर सरकार ने ऐसे 36,348 परिवारों की पहचान कर ली है। इनमें से हर एक को 5.5 लाख रुपए दिए जाने का प्रस्ताव है। एक सीनियर ऑफिसर ने यह जानकारी दी है। उनका कहना है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने प्रपोजल तैयार कर लिया है जिसे जल्द ही कैबिनेट में रखा जाएगा।
images (1)
– अधिकारी ने उम्मीद जताई कि कैबिनेट एक महीने के भीतर पैकेज को मंजूरी दे देगी। गिलगित बाल्टिस्तान सहित पाक अधिकृत कश्मीर से आए ज्यादातर विस्थापित परिवार जम्मू, कठुआ और राजौरी जिलों में रहते हैं।
– लेकिन इन्हें जम्मू कश्मीर का स्थायी निवासी नहीं माना जाता। ये लोकसभा चुनाव में वोट दे सकते हैं लेकिन विधानसभा में नहीं।
– केंद्र सरकार ने साफ किया है कि पीओके और गिलगित-बाल्टिस्तान जम्मू कश्मीर का हिस्सा हैं। सरकार दूसरे देशों में रहने वाले इन इलाकों के लोगों को एनआरआई प्रोग्राम में भी इनवाइट करने पर विचार कर रही है।
9200 करोड़ की जरूरत
– विस्थापितों के कुछ परिवार बंटवारे के समय 1947 में आए थे। कुछ 1965 और 1971 की लड़ाई के दौरान आए थे।
– पीओके के विस्थापितों की प्रतिनिधि जम्मू कश्मीर शरणार्थी कार्य समिति (जेकेएसएसी) के मुताबिक पैकेज आखिरी बंदोबस्त नहीं समझा जाना चाहिए। सभी के लिए करीब 9,200 करोड़ रुपए की जरूरत है।
2015 में मिली थीं ये सुविधाएं
– अर्द्ध सैनिक बलों में विशेष भर्ती अभियान
– राज्य में एक जैसा रोजगार के मौके
– शरणार्थियों के बच्चों को केंद्रीय विद्यालयों में दाखिला।
बलूचिस्तान असेंबली ने भी पास किया मोदी के खिलाफ प्रस्ताव
– पीओके, गिलगित और बलूचिस्तान को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी पर वहां की जनता उत्साहित है लेकिन सरकारी तौर पर पाकिस्तान में विरोध जारी है।
– पीओके, गिलगित-बाल्टिस्तान और पंजाब के बाद बलूचिस्तान असेंबली ने भी शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विरोध में एक प्रस्ताव पारित कर दिया।
– प्रस्ताव नवाज शरीफ की सत्तारूढ़ पीएमएलएन के विधायक मुहम्मद खान लहरी ने रखा। इसका सभी राजनीतिक दलों ने समर्थन किया।
– प्रस्ताव में कहा गया है, ‘बलूचिस्तान के बारे में भारत के प्रधानमंत्री के बयान ने साबित किया है कि प्रांत में आतंकवाद स्पष्ट रूप से भारत प्रायोजित है।’
– प्रस्ताव पर टिप्पणी करते हुए लहरी ने कहा, ‘भारतीय प्रधानमंत्री मोदी ने ऐसा करके पाकिस्तान की संप्रभुता और संयुक्त राष्ट्र चार्टर का उल्लंघन किया है।’
– बलूचिस्तान के गृहमंत्री सरफराज बुगती ने भी मोदी के बयान की निंदा की। कहा कि मोदी ने कश्मीर से दुनिया का ध्यान हटाने के लिए ऐसा बयान दिया।
127_bhaskar-news_14724312

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here