Home बड़ी खबरें बढ़ती तनानती के बीच नवंबर में पाकिस्तान जा सकते हैं पीएम मोदी

बढ़ती तनानती के बीच नवंबर में पाकिस्तान जा सकते हैं पीएम मोदी

56
0
Listen to this article

नई दिल्ली: कश्मीर के मुद्दे को लेकर पाकिस्तान के मन में बसी खटास बार-बार सामने आ रही है. पाकिस्तान में भारत के उच्चायुक्त गौतम बम्बावाले को वहां आज असम्मानजनक बर्ताव का सामना करना पड़ा. कराची चेम्बर ऑफ कॉमर्स ने उच्चायुक्त को पहले एक कार्यक्रम में बाकायदा आमंत्रित किया और फिर अंतिम समय में वह कार्यक्रम रद्द कर दिया. कश्मीर में पाकिस्तान के हस्तक्षेप पर बम्बावाले ने सोमवार को बयान दिया था. साफ तौर पर उसी को लेकर चेम्बर ने यह कदम उठाया.
सूत्रों ने बताया कि जनवरी में पदभार संभालने के बाद यह बम्बावाले की पहली कराची यात्रा थी. उन्हें कार्यक्रम रद्द होने के बारे में ‘‘समारोह से महज आधे घंटे पहले सूचना दी गई. इस कार्यक्रम का न्योता उन्हें कुछ सप्ताह पहले मिला था और उन्होंने उसे स्वीकार भी किया था.’’ आयोजकों ने कार्यक्रम रद्द करने का तत्काल कोई कारण नहीं बताया. भारतीय अधिकारियों का मानना है कि कश्मीर में पाकिस्तान के हस्तक्षेप पर बम्बावाले के कल के बयान से पाकिस्तानी अधिकारी नाराज हो गए, जिसके कारण यह रद्द हुआ. उच्चायुक्त ने कश्मीर को भारत का आंतरिक मामला बताते हुए उसमें पाकिस्तानी हस्तक्षेप की बात कही थी.
अधिकारियों ने कहा, ‘‘आयोजकों की ओर से यह बहुत असम्मानीय बात है.’’ कराची काउंसिल ऑन फॉरेन अफेयर्स की ओर से कल आयोजित संवाद सत्र में बम्बावाले ने कश्मीर में पाकिस्तान के हस्तक्षेप को लेकर उस पर कटाक्ष करते हुए कहा था कि शीशे के घरों में रहने वालों को दूसरों पर पत्थर नहीं मारना चाहिए. उन्होंने कहा था, ‘‘भारत और पाकिस्तान दोनों में परेशानियां हैं और आपको (पाकिस्तान) दूसरे देशों की समस्याओं में हस्तक्षेप करने की बजाए अपनी दिक्कतें सुलझानी चाहिए.’’
download (1)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here