Home दिल्ली दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके, हरियाणा का झज्जर था केंद्र, तीव्रता 4.1

दिल्ली-NCR में भूकंप के झटके, हरियाणा का झज्जर था केंद्र, तीव्रता 4.1

65
0
Listen to this article

दिल्ली एनसीआर में शनिवार रात 8 बजकर 57 मिनट पर भूकंप के झटके महसूस किए गए. राष्ट्रीय भूकंप केंद्र के मुताबिक भूकंप का परिमाण रिक्टर स्केल पर 4.1 आंका गया. भूकंप का केंद्र हरियाणा के झज्झर के पास था और इसका अभिकेंद्र जमीन में 10 किलोमीटर की गहराई पर था. इस भूकंप को झज्झर के साथ साथ रोहतक, भिवानी, गुड़गांव और दिल्ली में महसूस किया गया. भूकंप वैज्ञानिकों के मुताबिक यह भूकंप हल्के भूकंप की श्रेणी में आता है लिहाजा इससे किसी जानमाल के नुकसान की संभावना न के बराबर है.
download (1)
शनिवार रात को दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर भूकंप आया है। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 4.1 दर्ज की गई है। भूकंप के झटके रात 8.57 मिनट पर महसूस किए गए। झज्जर में जमीन से 10 किलोमीटर नीचे इसका केंद्र बताया जा रहा है। अभी तक किसी जनहानि की कोई खबर नहीं है। हालांकि कुछ स्थानों पर मकानों में दरारें आने की बात सामने आई हैं। शहर के कुछ मकानों के अलावा आस-पास के गांव में भी मकानों में दरार आने की खबरें हैं।
उल्लेखनीय है कि इससे पहले दिल्ली में 22 अगस्त को भी 3.5 की तीव्रता से भूकंप आया था। शनिवार रात को आए भूकंप के झटके महसूस होने के बाद लोग घबरा गए। काफी लोग तो अपने घरों से बाहर भी आ गए। बताया जा रहा है कि करीब दो सेंकेंड तक भूकंप का अहसास लोगों को हुआ है।
लोगों में दिखी जबरदस्त दहशत
शनिवार रात को आए इस भूकंप के बाद लोगों को अच्छी खासी दहशत देखने को मिली। लोग अपने घरों से बाहर आए और आपस में फोन पर बतियाते हुए एक दूसरे को जानकारी भी दी। झज्जर केंद्र का पता चलने के बाद परिचितों के फोन भी यहां लोगों के पास खूब आ रहे है। जिस प्रकार से झज्जर भूकंप का केंद्र रहा। उसमें लोग यह राहत महसूस कर रहे है कि झटका छोटा ही रहा। अगर कुछ सेकेंड के लिए और रहता तो काफी नुकसान यहां पर हो सकता है।
मकानों में आई दरारें
भूकंप के चलते किसी जनहानि का तो अभी तक कोई समाचार नहीं है। हां, इतना अवश्य है कि शहर में मॉडल टाउन क्षेत्र में दो-तीन मकानों में दरार आने की बात अभी तक सामने आ पाई है। इसी कड़ी में दुजाना, ऊंटलौधा आदि गांवों में भी कई मकानों में दरारें आने की बात यहां पता चली है। झज्जर के आस-पास के गांवों में भूकंप के बाद दहशत का माहौल बनता हुआ दिखाई दिया। झज्जर, बादली, बेरी, साल्हावास, मातनहेल, बहादुरगढ़ आदि क्षेत्रों में लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। लोगों का कहना है कि बेशक ही भूकंप आकर चला गया लेकिन उन्हें अभी तक उसका एहसास निरंतर हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here