Home दुनिया बकरीद पर ढाका में बही ‘खून की नदी’

बकरीद पर ढाका में बही ‘खून की नदी’

35
0
Listen to this article

ढाका: ईद-उल- अजहा के मौके पर में बड़े पैमाने पर पशुओं की कुर्बानी के साथ हुई भारी बारिश के चलते बांग्लादेश की राजधानी ढाका की सड़कें खून से लाल हो गईं. ढाका शहर के निकायों ने कुछ ऐसे स्थान तय किए हैं जिसमें रहवासी पशुओं की बलि दे सकते हैं लेकिन भारी बारिश के चलते कुछ ही लोग ऐसे स्थानों का उपयोग कर सके. मुस्लिम समुदाय के लोग पारंपरिक तरीके से जिंदा पशु की बलि देकर ईद-उल- अजहा या बकरीद के त्योहार को मनाते हैं.अल्लाह की राह में कुर्बानी को याद दिलाने के लिए सामान्य तौर पर बकरे, भीड़ या गाय की कुर्बानी दी जाती है. जिस पशु की कुर्बानी दी जाती है,उसके मांस को परिवार, मित्रों और ऐस गरीब परिवारों को जो कुर्बानी देने के लिए जानवर का इंतजाम नहीं कर सकते, उनके बीच सामाजिक सौहार्द्र बढ़ाने के लिए साझा किया जाता है.
ढाका के लोगों ने पशुओं की कुर्बानी देने के लिए पार्किंग स्थल, गैरेज और संकरी गलियों का उपयोग किया. इन स्थानों से खून बहकर उफनाई गलियों के जरिये सड़कों पर आ गया जिससे सड़के खून से सराबोर नजर आईं. 1 करोड़ की आबादी वाले इस शहर में जल निकासी की समुचित व्यवस्था नहीं है जिससे बाढ़ यहां की आम समस्या है.
images (7)

images (8)

images (10)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here