Home देश-दुनिया राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी सिंह ने महिला आयोग से लगाई...

राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी सिंह ने महिला आयोग से लगाई रिहाई की गुहार

51
0
Listen to this article

वेल्लोर, प्रेट्र । पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी श्रीहरन ने रिहाई के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया है। 25 साल से जेल में सजा काट रही नलिनी ने आयोग से इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है। नलिनी के वकील पी. पुगाझेंथी ने कहा, ‘वह सबसे लंबे समय से जेल में कैद महिला है। इस संबंध में उसने महिला आयोग को लिखा है। अगर तमिलनाडु सरकार ने संविधान के प्रावधानों का पालन किया होता तो वह पहले ही रिहा हो गई होती।’ पुगाझेंथी ने कहा कि वर्ष 2000 में महिला आयोग के हस्तक्षेप के बाद ही नलिनी की फांसी की सजा को उम्रकैद में बदला गया था। आयोग को लिखे पत्र में नलिनी ने कहा, ‘मैं सबसे लंबे समय से जेल में कैद महिला हूं। मेरा हर दिन रोते हुए बीतता है। आम महिला की तरह जीने लायक नहीं बची हूं। मैं तमिलनाडु में समयपूर्व रिहाई की तमाम योजनाओं के तहत रिहाई की पात्र हूं, लेकिन दुर्भाग्य से अब तक रिहा नहीं हुई। मेरी सारी उम्मीदें लगभग समाप्त हो गई हैं।’ नलिनी ने कहा कि उसकी एकमात्र इच्छा ब्रिटेन में रह रही अपनी बेटी को देखना और उसकी शादी करवाना है। नलिनी को 14 जून, 1991 को गिरफ्तार किया गया था। 1998 में विशेष अदालत ने उसे और 25 अन्य को राजीव हत्याकांड का दोषी पाया था। नलिनी का पति मुरुगन भी इसी मामले में जेल में बंद है। आयोग को लिखे पत्र में नलिनी ने कहा, ‘मैं सबसे लंबे समय से जेल में कैद महिला हूं। मेरा हर दिन रोते हुए बीतता है। वेल्लोर, प्रेट्र । पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी श्रीहरन ने रिहाई के लिए राष्ट्रीय महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया है। 25 साल से जेल में सजा काट रही नलिनी ने आयोग से इस मामले में हस्तक्षेप करने की अपील की है। नलिनी के वकील पी. पुगाझेंथी ने कहा, ‘वह सबसे लंबे समय से जेल में कैद महिला है। इस संबंध में उसने महिला आयोग को लिखा है। अगर तमिलनाडु सरकार ने संविधान के प्रावधानों का पालन किया होता तो वह पहले ही रिहा हो गई होती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here